Internet

What is internet in Hindi | इंटरनेट क्या है, इंटरनेट से जुड़ी जानकारी हिंदी में

यहाँ हम इस पोस्ट में what is internet in Hindi में, इंटरनेट का फुल फॉर्म क्या है, इंटरनेट क्या है और इंटरनेट का उपयोग, खोज ऐसे कई इंटरनेट से जुड़े सवालो के जवाब जानेगे Hindi में

What is internet in Hindi (इंटरनेट क्या है?)

इंटरनेट नेटवर्क एक विशाल नेटवर्क है, यह एक नेटवर्किंग बुनियादी ढांचा है। यह वैश्विक रूप से लाखों कंप्यूटरों को एक साथ जोड़ता है। 

इंटरनेट एक ऐसा नेटवर्क बनाता है जिसमें कोई भी कंप्यूटर किसी भी अन्य कंप्यूटर के साथ कम्यूनिकेट कर सकता है जब तक कि वे दोनों इंटरनेट से जुड़े हों। यह दुनिया भर के कंप्यूटर नेटवर्क वाली कंपनियों, सरकारों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों द्वारा एक दूसरे से बात करने की अनुमति देता है।

केबल, मोबाइल, कंप्यूटर, डेटा सेंटर, राउटर, सर्वर, रिपीटर्स, सैटेलाइट और वाईफाई टॉवर internet का एक द्रव्यमान है जो दुनिया भर के सभी लोगो को एक साथ जोर कर इंटरनेट नेटवर्क का निर्माण करता है और सारी डिजिटल जानकारी को दुनिया भर में यात्रा करने की अनुमति देता है।

WWW (वर्ल्ड वाइड ) की खोज किसने की?

Tim Berners-Lee वर्ल्ड वाइड वेब फाउंडेशन के संस्थापक हैं। 1989 में, CERN यूरोप में सबसे बड़ा इंटरनेट नोड था, और बर्नर्स-ली ने इंटरनेट के साथ हाइपरटेक्स्ट में शामिल होने का अवसर देखा।

किसने की इंटरनेट की खोज? Who found internet in Hindi

रॉबर्ट इलियट कहन (Robert Elliot Kahn) एक अमेरिकी इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं। जिन्होंने विंट सेर्फ़( Vint Cerf ) के साथ पहली बार ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल और इंटरनेट प्रोटोकॉल का प्रस्ताव रखा, इंटरनेट के दिल में मौलिक संचार प्रोटोकॉल।

2004 में, कहन ने टीसीपी / आईपी पर अपने काम के लिए विंट सेर्फ़ के साथ ट्यूरिंग अवार्ड जीता था।

इंटरनेट कैसे चलता है? How internet run in Hindi

यह विशेष कंप्यूटरों के एक बड़े नेटवर्क से बना है जिसे राउटर कहा जाता है। प्रत्येक राउटर का काम यह जानना है कि पैकेट को अपने स्रोत से अपने गंतव्य तक कैसे स्थानांतरित किया जाए।

एक पैकेट अपनी यात्रा के दौरान कई राउटर से गुजरा होगा। जब एक पैकेट एक राउटर से दूसरे में जाता है, तो इसे एक हॉप कहा जाता है

इंटरनेट का उपयोग क्या है? Uses of internet in Hindi

यह पर हम इंटरनेट का उपयोग आपके इंटरनेट कनेक्शन में  ईमेल की जाँच, फ़ाइलों को डाउनलोड करने और अपलोड करने, ऑडियो और वीडियो, आदि) को transfer करने के लिए किया जाता है।  इंटरनेट विभिन्न ऑनलाइन  activities , विभिन्न मात्रा में जानकारी transfer करते हैं।

वाईफाई (Wi-Fi) Wireless Fidelity का आविष्कार किसने किया?

डॉ. जॉन ओ’सूलीवन (Dr. John O’Sullivan), एक ऑस्ट्रेलियाई इंजीनियर है , उनको आविष्कारकों की टीम का नेतृत्व करने का श्रेय दिया जाता है जिन्होंने वाईफाई (Wi-Fi) तकनीक विकसित की थी।

इंटरनेट का फुल फॉर्म क्या है? Full form of internet in Hindi

Interconnected Network  (INTER-NET) यह दुनिया भर में सभी वेब सर्वर के इंटरकनेक्टेड नेटवर्क का संक्षिप्त रूप है। इसे वर्ल्ड वाइड वेब या केवल वेब भी कहा जाता है।

भारत में इंटरनेट का आविष्कार कब हुआ? internet in india

भारत में पहली बार इंटरनेट सार्वजनिक रूप से उपलब्ध इंटरनेट सेवा 15 अगस्त 1995 को राज्य के स्वामित्व वाली विद्या संचार निगम लिमिटेड (वीएसएनएल) द्वारा शुरू की गई थी।

इंटरनेट में Bits per second क्या है? (Bits per second in internet in Hindi)

जब कंप्यूटर इंटरनेट पर जानकारी भेजते हैं, तो वह जानकारी बिट्स या बाइट्स में होती है।

बिट्स या बाइट्स को अपने गंतव्य तक पहुंचने में समय लगता है। उस समय को सेकंड में मापा जाता है।

तो इंटरनेट स्पीड को एक सेकंड में कितने बिट्स या बाइट्स ट्रांसफर किए जाते हैं, यह पहचानकर मापा जाता है, इसलिए बिट्स प्रति सेकंड या बाइट्स प्रति सेकंड।

क्योंकि बिट्स और बाइट्स इतने छोटे होते हैं, एक सेकंड में स्थानांतरित होने वाली संख्या लगभग हमेशा 1,000 से अधिक होती है।

kilo for 1,000

mega for 1 million

Giga for 1 billion

यह सब एक साथ रखकर, इंटरनेट की गति को कई अलग-अलग तरीकों से भी मापा जा सकता है। What is internet in Hindi

kilobits per second (Kbps)

kilobytes per second (KBps)

megabits per second (Mbps)

megabytes per second (MBps)

gigabits per second (Gbps)

gigabytes per second (GBps)

इंटरनेट कनेक्शन का प्रकार Types of internet in Hindi

इंटरनेट कनेक्शन का प्रकार है:- 

  1. Dial-Up (Analog 56K)
  2. DSL. DSL stands for Digital Subscriber Line
  3. Cable. केबल एक केबल मॉडेम के माध्यम से एक इंटरनेट कनेक्शन प्रदान करता है । और केबल टीवी लाइनों पर काम करता है।
  1. Wireless. वायरलेस, या वाई-फाई, जैसा कि नाम से पता चलता है | इंटरनेट से कनेक्ट करने के लिए टेलीफोन लाइनों या केबलों का उपयोग नहीं करता है।
  2. Satellite
  3. Cellular

राउटर क्या है?

राउटर एक ऐसा उपकरण है जो कंप्यूटर नेटवर्क पर स्रोत (source)से गंतव्य (designation) तक डेटा भेजने के लिए जिम्मेदार है।

Network Topology क्या है?

एक नेटवर्क टोपोलॉजी नेटवर्क की एक physical structure है जो define करती है कि कंप्यूटर या डिवाइस एक दूसरे से कैसे जुड़े होंगे।

टीसीपी / आईपी (TCP/IP) मॉडल का क्या मतलब है?

टीसीपी / आईपी ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल और इंटरनेट प्रोटोकॉल के लिए है। यह बताता है कि डेटा कैसे  transmit होगा और end to end  कम्युनिकेशन Root तक पहुंचेगा।

एनकोडर क्या है?

एनकोडर एक प्रोग्राम, सर्किट या एक  device है जो डेटा को एक format से दूसरे format में परिवर्तित करता है। एनकोडर एनालॉग सिग्नल को डिजिटल में बदलते हैं।

डिकोडर क्या है?

डिकोडर एक प्रोग्राम, सर्किट या एक device है जो एन्कोडेड डेटा को उसके वास्तविक format में परिवर्तित करता है। डिकोडर्स डिजिटल सिग्नल को एनालॉग में बदलते हैं।

IPv6 से आपका क्या अभिप्राय है?

IPv6 Internet Protocol version 6 इंटरनेट के लिए है latest version है। IP address की  length 128 बिट्स है जो नेटवर्क  addresses की issue  को हल करती है।

Cookies क्या है?

कुकीज़ डेटा के छोटे pieces हैं जो एक वेब साइट के data को  कंप्यूटर पर डाउनलोड कर सकते हैं ताकि, अगर वे उस साइट पर वापस लौटते हैं, तो उन्हें फिर से पहचाना जा सके। इस वजह से यूजर को दोबारा उस same वेबसाइट पर लॉगिन करने में आसानी  होती है | 

Browser क्या है?

आपको किसी भी वेब साइटों को देखने के लिए , कोई न कोई तो platform तो  चाहिए ही  इस लिए Browser या web Browser का उपयोग किया जाता  हैं।

सबसे अधिक Browser का उपयोग किया जाने वाला ब्राउज़र Microsoft का इंटरनेट एक्सप्लोर (“IE” संक्षेप में) , गूगल क्रोम और फ़ायरफ़ॉक्स  है।

domain name क्या है?

एक डोमेन नाम आपकी वेबसाइट का नाम है। एक डोमेन नाम को एक address के रूप में सोचें जहां से Internet users आपकी वेबसाइट तक पहुंच सकते हैं।इंटरनेट पर  किसी भी website खोजने और पहचानने के लिए एक डोमेन नाम का उपयोग किया जाता है। 

मॉडेम क्या है?

मॉडेम को  “मॉड्यूलेटर-डेमोडुलेटर” भी कहते  है। यह एक हार्डवेयर component है जो कंप्यूटर या किसी अन्य डिवाइस, जैसे राउटर या स्विच को इंटरनेट से कनेक्ट करने की अनुमति देता है।

इसी तरह, यह कंप्यूटर या अन्य डिवाइस से डिजिटल डेटा को एक एनालॉग सिग्नल में परिवर्तित करता है जिसे  standard  टेलीफोन लाइनों पर भेजा जा सकता है।

यह भी पढ़ें

Website kaise banaye ? | वेबसाइट कैसे बनाये step by step सीखे

Share on

Leave a Reply