Samanarthi shabd in hindi | Paryayvachi shabd list in hindi

यहाँ पर Samanarthi shabd in hindi में १००० से भी ज्यादा पर्यायवाची शब्द जाने जिनके दो या दो से अधिक अर्थ होते है उन्हें पर्यायवाची शब्द कहते है।

समानार्थी शब्द एक समान शब्द हैं, या दूसरे शब्द से संबंधित अर्थ हैं। जब आप एक ही शब्द को बार-बार दोहराने से बचना चाहते हो तब आप शामनार्थी सब्द इस्तमाल कर सकते हो। और हा पर्यायवाची और समानार्थी एक चीज़ है।

इसके अलावा, कभी-कभी आपके मन में आया शब्द आपको उपयुक्त शब्द नहीं लगता है, तो इसलिए आप सही पर्यायवाची शब्द इस्तमाल कर सकते हो। paryayvachi shabd in hindi

Samanarthi shabd in hindi ( समानार्थी शब्द हिंदी में ) paryayvachi shabd in hindi

अतिथि- मेहमान, अभ्यागत, आगन्तुक, पाहूना।

अमृत- सुरभोग सुधा, सोम, पीयूष, अमिय, जीवनोदक ।

अग्नि- आग, ज्वाला, दहन, धनंजय, वैश्वानर, रोहिताश्व, वायुसखा, विभावसु, हुताशन, धूमकेतु, अनल, पावक, वहनि, कृशानु, वह्नि, शिखी।

अर्थ- हय, तुरङ, वाजि, घोडा, घोटक।

अहंकार- दंभ, गर्व, अभिमान, दर्प, मद, घमंड, मान।

अर्थ- धन्, द्रव्य, मुद्रा, दौलत, वित्त, पैसा।

अंधकार- तम, तिमिर, तमिस्र, अँधेरा, तमस, अंधियारा।

अभिमान- अस्मिता, अहं, अहंकार, अहंभाव, अहम्मन्यता, आत्मश्लाघा, गर्व, घमंड, दर्प, दंभ, मद, मान, मिथ्याभिमान।

अनादर- अपमान, अवज्ञा, अवहेलना, अवमानना, परिभव, तिरस्कार।

अंकुश- नियंत्रण, पाबंदी, रोक, अंकुसी, दबाव, गजांकुश, हाथी को नियंत्रित करने की कील, नियंत्रित करने या रोकने का तरीका।

अंत- समाप्ति, अवसान, इति, इतिश्री, समापन।

अंतरिक्ष- खगोल, नभमंडल, गगनमंडल, आकाशमंडल।

अंतर्धान- गायब, लुप्त, ओझल, अदृश्य।

अंदर- भीतर, आंतरिक, अंदरूनी, अभ्यंतर।

अंदाज- अंदाजा, अटकल, कयास, अनुमान।

अंधा- सूरदास, आँधरा, नेत्रहीन, दृष्टिहीन।

अच्छा- बढ़िया, बेहतर, भला, चोखा, उत्तम।

अजनबी- अनजान, अपरिचित, नावाकिफ।

अजीब- अदभुत, अनोखा, विचित्र, विलक्षण।

अटल- अविचल, अडिग, स्थिर, अचल।

अतीत- भूतकाल, विगत, गत, भूत।

अत्याचारी- जालिम, आततायी, नृशंस, बर्बर।

अदालत- कचहरी, न्यायालय, दंडालय।

अधीन- मातहत, आश्रित, पराश्रित, परवश, परतंत्र।

अधीर- आतुर, धैर्यहीन, व्यग्र, बेकरार, उतावला।

अध्ययन- पठन-पाठन, पढ़ना, पढ़ाई, पठन।

अनपढ़- निरक्षर, अशिक्षित, अपढ़।

अनमोल- अमूल्य, बहुमूल्य, बेशकीमती।

अनाज- अन्न, गल्ला, नाज, खाद्यान्न।

अनाड़ी- अकुशल, अनभिज्ञ, अपटु।

अनाथ- तीम, लावारिस, बेसहारा, अनाश्रित।

अनिवार्य- अत्यावश्यक, अपरिहार्य, अवश्यंभावी, परमावश्यक।

अनुज- छोटा भाई, अनुभ्राता, अवरज, कनिष्ठ।

अनुभवी- तजुर्बेकार, जानकार, अनुभवप्राप्त।

अनुमति- इजाजत, सहमति, स्वीकृति, अनुमोदन।

अनुरोध- विनय, विनती, आग्रह, प्रार्थना।

अपराधी- गुनहगार, कसूरवार, मुलजिम।

अपवित्र- अशुद्ध, नापाक, अस्वच्छ, दूषित।

अफवाह- गप्प, किंवदंती, जनश्रुति, जनप्रवाद।

अभद्र- असभ्य, अविनीत, अकुलीन, अशिष्ट।

अभिनंदन- स्वागत, सत्कार, आवभगत, अभिवादन।

अमन- शांति, सुकून, सुख-चैन, अमन-चैन।

अमर- चिरंजीवी, अनश्वर, अजर-अमर।

अमीर- धनी, मालदार, रईस, दौलतमंद, धनवान।

अँगूठी- मुद्रा, मुँदरी, छल्ला, मुद्रिका, अंगुष्ठिका, अंगुलीमुद्रा, अंगुश्तरी।

अंगूर- दाख, किशमिश, द्राक्षा।

एकदम।

अकारण- बेमतलब, बेबात, बेवजह, बेसबब, नाहक, कारणरहित, निष्प्रयोजन।

अकारथ- बेकार, व्यर्थ।

अकाल- दुर्भिक्ष, भुखमरी, कुसमय, काल, दुष्काल, महँगी, मूल्यवृद्धि, तेजी।

अकुलाना- आकुल होना, घबराना, व्याकुल होना, अधीर होना, ऊबना, उकताना।

अकेला- एकाकी, तनहा, एकमात्र, अद्वितीय, अनन्य, अकेले-अकेले, अकेले-दम।

अकेलापन- एकांतिकता, एकांतवास, एकाकीपन, विविक्ता।

अकसर- प्रायः, बहुधा, अधिकतर, प्रायशः, अधिकांशतः।

अखंड- पूरा, समूचा, पूर्ण, अविभक्त, अजस्र, निरंतर, लगातार, अक्षय, अक्षुण्ण।

अखंडता- सततता, निरंतरता, अविच्छेदता, अविच्छिन्नता, अछिन्नता, पूर्णता।

अखरना- बुरा लगना, अप्रिय लगना, कष्टदायी लगना, दुःखदायी लगना, खलना।

अखिल- पूरा, समूचा, संपूर्ण, अखंड, अक्षय, अक्षुण्ण।

अख्तियार- अधिकार, वश, प्रभुत्व, सामर्थ्य।

अछूत- अस्पृश्य, हरिजन, अंत्यज, अनुसूचित जातीय।

अजय- पराजय, हार।

अजस्र- लगातार, निरन्तर, सिलसिलेवार, क्रमिक।

अजिर- आँगन, सेहन, हवा वायु, पवन, वात।

अजीर्ण- अपच, बदहजमी।

अज्ञ- मूर्ख, अज्ञानी, बेवकूफ, नासमझ।

अज्ञान- जड़ता, मूर्खता, अविद्या, मोह, अविवेक।

अज्ञानी- निर्बुद्धि, अनभिज्ञ, अज्ञ, मूढ़, अनजान, मूर्ख, बेवकूफ, नासमझ।

अटकना- अड़ना, रुकना, फँसना, बझना, रुकावट पड़ना, बाधा पड़ना, टिकना, ठहरना।

अटकल- अनुमान, अंदाज, कूत।

अटकाना- रोकना, ठहराना, टिकाना, अड़ाना, छेकना, रुकावट डालना, फँसाना, उलझाना, गति रोकना, अवरोध करना।

अटना- समाना, भर जाना, भरना, पर्याप्त होना।

अटल- स्थिर, अचल, अडिग, अविचलित, चिरस्थायी, पक्का, दृढ, धुव्र, निश्चित, अवश्यम्भावी, नियत, स्थायी, निश्चल, अचर, कृत संकल्प, दृढ़ संकल्प, दृढ़ प्रतिज्ञ, दृढ़ निश्चय, स्थिरमति, हठी, नित्य, अक्षय, शाश्वत, अमर।

अटूट- अखण्ड, निरन्तर, अचल, दृढ़, अटल।

मुख्य।

अधम- निकृष्ट, निम्न, पतित, नीच, भ्रष्ट, हेय।

अधर्म- विरुद्धाचरण, धर्मोल्लघंन, नीतिभंग, अपराध, कल्मष, दुरित, अघ, दोष, कुकर्म, पातक, अपकर्म, पाप, दुष्कर्म, दुराचार, अनाचार, पापकर्म, गुनाह।

अधार्मिक- धार्मिक मत विरोधी, धर्मविमुख, धर्मविरत, नास्तिक।

अध्यक्ष- सभापति, प्राध्यक्ष, प्रधान, संचालक, प्रबंधक, अधिष्ठाता, नायक, प्रमुख, मुखिया, सरदार, चेयरमैन।

अध्ययन- पठन, पढ़ना, पढ़ाई, पारायण, अवलोकन, निरीक्षण, प्रेक्षण, पर्यवेक्षण, अनुशीलन, परिशीलन।

अध्यापक- शिक्षक, गुरु, उस्ताद।

अनजान- अज्ञात, अपरिचित, अनभिज्ञ, भोला-भाला, नासमझ, नादान, सीधा, अज्ञ, अज्ञानी।

अनदेखा- बिनदेखा, अदेखा।

अनन्तर- तदुपरांत, तत्पश्चात्, इसके पश्चात्, इसके बाद, उसकी पीछे, फिर।

अनपढ़- मुर्ख, गँवार, अपढ़, अशिष्ट, अशिक्षित, उजड्ड, अक्खड़ जाहिल, निरक्षर।

अनबन- मतभेद, वैमनस्य, विरोध, असहमति, झगड़ा, तकरार, विवाद, बखेड़ा, टंटा।

अनमना- उदास, अन्यमनस्क, उन्मन, विमुख, विरक्त, उदास, गतानुराग, अन्यमनस्क।

अनिश्चय- असमंजस, दुविधा, उलझन।

अनिष्ट- बुरा, अनुचित, अशुभ, अहितकर, अमंगल, अकल्याण, अवांछित, अनभिष्ट।

अनुकंपा- कृपा, दया, सहानुभूति।

अनुकरण- नकल, देखादेखी, अनुसरण, अनुगमन, अनुवर्तन, अनुकृति, प्रतिकृति।

अनुकूल- अनुसार, अनुरूप, मुआफिक, संगत, अविरुद्ध, पक्ष में अभिमत, सामंजस्यपूर्ण, हितकर, लाभदायक, कल्याणकार।

अनुकूलता- अनुयोज़्यता, अविरुद्धता, अनुरूपता, आनुकूल्य, अनुकूलनशीलता, अविमुखता।

अनुकूल होना- अनुरूप होना, ऐक्य होना, एकमत होना, एकरूप होना।

अनुरक्ति- अनुराग, प्रेम, स्नेह।

अनुरूप- आनुषंगिक, सदृश, समरूप, समान, तुल्यरूप, समान, एकरूप, मिलता-जुलता।

अनुरूपता- सामंजस्य, संगति, सादृश्य, संगतता, अनुकूलता, समरूपता, एकरूपता, तुल्यरूपता, समानता।

अनूठा- अनोखा, निराला, विलक्षण, अनुपम, बेजोड़।

अनेक- विविध, नाना, कई, असंख्य, अगणित।

अनेकता- बहुरूपता, वैविध्य, विविधता अनैक्य, विभिन्नता, नानात्व।

अनोखा- विलक्षण, विचित्र, असाधारण, अद्भुत, निराला, अजीब, विस्मयजनक, आश्चर्यजनक, अलौकिक, अपूर्व, अद्वितीय, अप्रतिरूप, अनूठा, बेजोड़, चमत्कारिक।

अन्य- दूसरा, इतर, और अनंतर, बाद वाला।

अन्यथा- वर्ना नहीं तो, और तरह, और कुछ।

अन्वेषण- जाँच, खोज, अनुसंधान अन्वेषण।

अपकार- अहित, अमंगल, अनिष्ट, हानि, बुराई, अनुपकार, द्रोह, द्वेष, दुष्क्रिया, मंदकर्म।

अपकारी- कुकर्मी, अनर्थकारी, अहितकारी, अनिष्टसाधक, बुरा करने वाला, दुष्टबुद्धि, कुबुद्धि, पीड़क।

अपकर्ष- अवनति, अधोगति, घटाव, उतार, पतन, अधोपतन।

अपढ़ आदमी- अशिक्षित व्यक्ति, निरक्षर व्यक्ति, निरक्षर भट्टाचार्य, अप्रबुद्ध व्यक्ति।

अपना- निज, निजी, व्यक्तिगत, वैयक्तिक, स्वकीय, आत्म, आत्मीय।

अपनापन- स्वत्व, निजीपन, व्यक्तिगत, अपनत्व, आत्मीयता।

अपने आप- स्वयं, स्वमेव, स्वतः, खुद-ब-खुद, अनायास, बेसाख्ता, बरबस, बेअख्तियार, हठात, यंत्रवत।

अपमानजनक- निरादरपूर्ण, तिरस्कारपूर्ण, उपेक्षापूर्ण, घृणास्पद, पराभवपूर्ण।

अपयश- अपकीर्ति, अयश, अकीर्ति, अपवाद, निन्दा।

अपराध- दुष्कर्म, गुनाह, गलती, दोष, पाप, कसूर, खता, जुर्म।

अपशकुनी- अपशाकुनिक, अनिष्टशंसी, अनष्टिकारी, अमंगलसूचक।

अपहरण- हर लेना, छीन लेना, जबरदस्ती उठा ले जाना, अगवा।

अपार- अनंत, असीम, निस्सीम, बेहद, बेशुमार।

अप्रसन्न- नाराज, उदास, दुःखी, विरक्त, अन्यमनस्क, खिन्न, म्लान, असंतुष्ट।

अफ़सोस- दुःख, खेद, विषाद, शोक, पश्चाताप, गम, म्लानि।

अब- इस समय, अभी, आज, संप्रति, आजकल, इन दिनों, आगे भविष्य में।

अभयदान- रक्षावचन, सुरक्षादान, सुरक्षण, रक्षण।

अभागा- हतभाग्य, बदनसीब, भाग्यहीन, अभाग्यशाली, मनहूस, बदकिस्मत, मंदभाग्य, दुःखापन्न।

अभाग्य- दुर्दैव, दुर्भाग्य, अदिष्ट, विधिवाम, कुसमय, बदकिस्मती, भाग्यहीनता।

अभाव-कमी, तंगी, टोटा, हीनता, क्षीणता।

अमान्य- अस्वीकार्य, अनधिकृत, नामंजूर, अस्वीकृत।

अमावस्या- कुहू, अमा, अमावस, कृष्णपक्ष की अंतिम तिथि।

अमीरी- सम्पन्नता, धनबाहुल्य, वैभव, समृद्धि, मालदारी, दौलतमंदी।

अमूल्य- अनमोल, बहुमूल्य, मूल्यवान, कीमती, बेशकीमती।

अयोग्य- अक्षम, अनुपयुक्त, अनुपयोगी, नालायक, बेकार, असमर्थ, अगुन सम्पन्न, योग्यताहीन, व्यर्थ,

अराधना- पूजना, जपना, सुमिरना, स्मरण करना।

अरुचि- जुगुप्सा, घृणा, अप्रीति, विराग, विरक्ति, नापसंदगी, नफ़रत, विराग, विमुखता, अनिच्छा, ऊब

अलग- पृथक, भिन्न, जुदा, न्यारा, अलहदा, विविक्त, विभक्त, असंबद्ध, वियुक्त, विलग, अलग-थलग।

अलगाना- अलग करना, पृथक करना, वियुक्त करना, असंयुक्त करना, असंबद्ध करना।

अलगाना- अलग करना, पृथक करना, वियुक्त करना, असंयुक्त करना, असंबद्ध करना।

अलगाव- विच्छेद, पार्थक्य, अपयोजन, वियोजन, पृथक्करण, पृथकता, विलगता, वियोग, बिलगाव, विश्लेष, विभाजन, असंयोजन, बँटवारा।

अल्प- अप्रचुर, बहुत कम, थोड़ा, नाकाफी, नाममात्र को, न्यून, अत्यल्प, नहीं के बराबर, जरा-सा।

अल्पानुमान- अवमानन, न्यूनानुमान, अल्पमूल्य निरूपण, कम अंदाजा।

अवकाश- समय, मौका, छुट्टी, फुर्सत, विश्राम।

अवकाश ग्रहण करना- रिटायर होना, सेवा निवृत्त होना, निवृत होना, कर्म त्याग करना

अवलोकन- निरीक्षण, निरूपण, प्रेक्षण, पर्यवेक्षण।

अवश्य- जरूर, असंशय, निश्चय ही, निःसंदेह, अनिवार्यत, लाजिमी तौर पर।

अवस्था- आयु, उम्र, वय, दशा, हालत, स्थिति।

अविवाहिता- युवती, किशोरी, कुमारिका, कुमारी, बाला अल्पवयस्का, कन्या, कुँवारी।

अविश्सनीय- अविश्वास्य, अयुक्त, अप्रमाणिक, जाली।

अवैध- अमान्य, नाजायज, गैर-क़ानूनी, नियम विरुद्ध, असंगत, नीति विरुद्ध।

अव्यवस्था- क्रमभंग, अनवस्था, अनियमता, अस्तव्यस्तता, अनियंत्रण, गड़बड़।

अव्यवस्थित- क्रमहीन, बेतरतीब, अनियमित, अस्त-व्यस्त, विपर्यस्त, अटपटा, बेतुका, बेढंगा, बेकायदा

असावधान- बेपरवाह, लापरवाह, बेखबर, गाफिल, बेहोश, अचेत, प्रमादी।

असावधानी- बेपरवाही, लापरवाही, गफलत, अनवधान, प्रमाद, बेहोशी।

असीम- अपरिमित, अमित, अनंत, असीमित, अपार, असंख्य, अकूत, बेहिसाब, बेहद।

असुन्दर- कुरूप, बदसूरत, बदशक्ल, बेडौल, भौंडा, अनपयुक्त, भद्दा, बेतुका, बेढब, बेढंगा।

अस्त- तिरोहित, अदृश्य, लुप्त, नष्ट, वस्त, लोप, अदर्शन।

अस्तित्व- सत्ता, वजुद, विद्यमानता, उपस्थिति, मौजूदगी।

आत्मा- जीव, देव, चैतन्य, चेतनतत्तव, अंतःकरण।

आँगन- अँगना, अजिरा, चौक, सहन, सेहन, अहाता, प्रांगण।

आँधी- तूफान, बवंडर, झंझावत, अंधड़।

आईना- दर्पण, आरसी, शीशा।

आकाश- आसमान, नभ, गगन, व्योम, फलक।

आक्रोश- क्रोध, रोष, कोप, रिष, खीझ।

आखेटक- शिकारी, बहेलिया, अहेरी, लुब्धक, व्याध।

आगंतुक- मेहमान, अतिथि, अभ्यागत।

आग- पावक, अनल, अग्नि, दव, हुताशन, रोहिताश्व, उष्मा, ताप, तपन, जलन, आतिश, पांचजन्य, ज्वाला, दावानल, दावाग्नि, बाड़व, वहि।

आचरण- चाल-चलन, बर्ताव, व्यवहार, चरित्र।

आचार्य- शिक्षक, अध्यापक, प्राध्यापक, गुरु।

आजादी- स्वाधीनता, स्वतंत्रता, मुक्ति।

आजीविका- व्यवसाय, रोजी-रोटी, वृत्ति, धंधा।

आज्ञा- हुक्म, फरमान, आदेश।

आतिथ्य- मेहमानदारी, मेजबानी, मेहमाननवाजी, खातिरदारी।

आत्मा- रूह, जीवात्मा, जीव, अंतरात्मा।

आदत- स्वभाव, प्रकृति, प्रवृत्ति।

आदमी- मानव, मनुष्य, मनुज, मानुष, इंसान।

आनन- चेहरा, मुखड़ा, मुँह, मुखमंडल,

इन्द्र- सुरेश, अमरपति, वज्रधर, वज्री, शचीश, वासव, वृषा, सुरेन्द्र, देवेन्द्र, सुरपति, शक्र, पुरंदर, देवराज, महेन्द्र, मधवा, शचीपति, मेघवाहन, पुरुहूत, यासव।

इंद्र का पुत्र- जयंत, उपेन्द्र, ऐंद्रि।

इंद्र का वज्र- कुलिश, वज्र, पवि, अशनि, भिदुर, भेदी शतकोटि।

इंद्र का हाथी- अभ्रमातंग, गजेन्द्र, ऐरावत।

इंद्रधनुष- इन्द्रायुध, शक्रधनु, ऋजुरोहित।

इंद्रपुरी- अमरावती, देवपुरी, इंद्रलोक, देवलोक।

इन्द्राणि- इन्द्रवधू, मधवानी, शची, शतावरी, पोलोमी।

इच्छा- अभिलाषा, अभिप्राय, चाह, कामना, ईप्सा, स्पृहा, ईहा, वांछा, लिप्सा, लालसा, मनोरथ, आकांक्षा, अभीष्ट।

इंतकाल- देहांत, निधन, मृत्यु, अंतकाल।

इंदु- चाँद, चंद्रमा, चंदा, शशि, राकेश, मयंक, महताब।

इंसान- मनुष्य, आदमी, मानव, मानुष।

इंसाफ- न्याय, फैसला, अद्ल।

इजाजत- स्वीकृति, मंजूरी, अनुमति।

इज्जत- मान, प्रतिष्ठा, आदर, आबरू।

इनाम- पुरस्कार, पारितोषिक, पारितोषित करना, बख्शीश।

ईश्वर- परमपिता, परमात्मा, प्रभु, ईश, जगदीश, भगवान, परमेश्वर, जगदीश्वर, विधाता।

ईख- गन्ना, ऊख, इक्षु।

ईप्सा- इच्छा, ख्वाहिश, कामना, अभिलाषा।

ईमानदारी- सच्चा, सत्यपरायण, नेकनीयत, यथार्थता, सत्यता, निश्छलता, दयानतदारी, सत्यनिष्ठ।

ईर्ष्या- विद्वेष, जलन, कुढ़न, ढाह।

ईसा- यीशु, ईसामसीह, मसीहा।

ईमानदार- सच्चा, नेकनीयत, दयानतदार, शुद्धमति, निश्छल, निष्कपट, सत्यनिष्ठ, सत्यपरायण, सदाशय, ऋजु।

ईर्ष्यालु- ईर्ष्यायुक्त, स्पृहाशील, स्पृहालु, डाहीद्वेषी, विद्वेषी।

ईहा- मनोकामना, अभिलाषा, इच्छा, आकांक्षा, कामना।

उपवन- बाग़, बगीचा, उद्यान, वाटिका, पुष्पोद्यान, फुलवारी, पुष्पवाटिका, गुलिस्तान, चमन, गुलशन।

उक्ति- कथन, वचन, सूक्ति।

उग्र- प्रचण्ड, उत्कट, तेज, महादेव, तीव्र, विकट।

उचित- ठीक, मुनासिब, वाज़िब, समुचित, युक्तिसंगत, न्यायसंगत, तर्कसंगत, योग्य।

उच्छृंखल- उद्दंड, अक्खड़, आवारा, अंडबंड, निरकुंश, मनमर्जी, स्वेच्छाचारी।

उजड्ड- अशिष्ट, असभ्य, गँवार, जंगली, देहाती, उद्दंड, निरकुंश।

उजला- उज्ज्वल, श्वेत, सफ़ेद, धवल।

उजाड- जंगल, बियावान, वन।

उजाला- प्रकाश, रोशनी, दीप्ति, द्योत, प्रभा, विभा, आलोक, तेज, ओज, चाँदनी।

उत्कष- समृद्धि, उन्नति, प्रगति, प्रशंसा, बढ़ती, उठान।

उत्कृष्ट- उत्तम, उन्नत, श्रेष्ठ, अच्छा, बढ़िया, उम्दा।

उत्कोच- घूस, रिश्वत।

उत्पत्ति- उद्गम, पैदाइश, जन्म, उद्भव, सृष्टि, आविर्भाव, व्युत्पति, प्रादुर्भाव, शुरू, आरंभ, शुरुआत, प्रारंभ, उदय।

उद्धार- मुक्ति, छुटकारा, निस्तार, त्राण, परित्राण, विमुक्ति, बचाव, मोक्षण, रिहाई।

उपाय- युक्ति, साधन, तरकीब, तदबीर, यत्न, चेष्टा, कोशिश, तरीका, उपचार, विधि, जुगत, ढंग, पद्धति

उदाहरण- मिसाल, नजीर, दृष्टान्त, कथा-प्रसंग, नमूना, दृष्टांत।

उद्दंड- ढीठ, अशिष्ट, बेअदब, गुस्ताख़।

उद्देश्य- लक्ष्य, प्रयोजन, ध्येय, साधन, इष्ट, निर्मित, नीयत, मंशा, हेतु, अभीष्ट, तात्पर्य, मतलब, अभिप्राय, प्रयोजन, अर्थ, मकसद।

उद्यान- बगीचा, बाग, वाटिका, उपवन।

उन्नति- प्रगति, तरक्की, विकास, उत्थान, बढ़ती, अभिवृद्धि, उदय, अभ्युदय, प्रवर्द्धन, प्रसार, श्रीवृद्धि, उरूज, बढ़ोत्तरी, वृद्धि, समृद्धि, चढ़ाव। उत्कर्ष।

उपकार- भेंट, नजराना, भलाई, नेकी, उद्धार, अच्छाई, परोपकार, कल्याण, अहसान, आभार, तोहफा।

उपहास- परिहास, मजाक, खिल्ली।

उपानह- खड़ाऊँ, पनही, पादुका, पदत्राण।

उमा- गौरी, गौरा, गिरिजा, पार्वती, शिवा, शैलजा, अपर्णा।

उम्मीद- आशा, आस, भरोसा।

उत्तर- प्रत्युत्तर, जवाब्र, पिछला, बाद का, पीछे, उदीची, वामवर्ती।

उत्तेजित- उत्साहित, प्रोत्साहित, प्रेरित, जोश में, उद्दीपित।

उत्पात- उपद्रव, बखेड़ा, हुल्लड़, दंगा- फ़साद, हंगामा, टंटा, ऊधम, अशुभ, अमंगल, विघ्न।

उत्सव- समारोह, जश्न, त्योहार, पर्व, मंगलकार्य, जलसा, आनंद।

उथल-पुथल- क्रांति, विप्लव, परिवर्तन, इन्कलाब, हेर-फेर, रद्दोबदल।

उदारता- सहृदयता, दयालुता, दानशीलता, दरियादिली, फराखदिली, विशालहृदयता।

उदास- अन्यमनस्क, विमनस्क, म्लान, अनमना, खिन्न, उचाट, निरुत्साहित, विरक्त, गमगीन, उद्विग्न, म्लान

ऊँचा- तुंग, उच्च, बुलंद, उर्ध्व, उत्ताल, उन्नत, ऊपर, शीर्षस्थ, उच्च कोटि का, बढ़िया, अच्छा, चोटी का, गगनस्पर्शी।

ऊँचाई- बुलंदी, उठान, उच्चता, तुंगता, बुलन्दी।

ऊँचा करना- उन्नत करना, उत्थित करना, ऊपर उठाना।

ऊँट- करभ, उष्ट्र, लंबोष्ठ, साँड़िया।

ऊखल- ओखली, उलूखल, कूँडी।

ऊसर- अनुपजाऊ, बंजर, अनुर्वर, वंध्या, भूमि।

ऊधम- उपद्रव, उत्पात, धूम, हुल्लड़, हुड़दंग, धमाचौकड़ी।

ऊँघ- तंद्रा, अर्द्ध-निद्रा, झपकी, ऊँघाई।

ऊँघना- झपकी लेना, तंद्रिल होना, तंद्राभिभूत होना, अलसाना, सुस्त पड़ना, पलक मारना, निद्रालु होना, अर्द्धनिद्रित होना, औंघाना, झपकी।

ऊधम- उत्पात, उपद्रव, दंगा, फ़साद, हुल्लड़, हंगामा, होहल्ला, धमाचौकड़ी।

ऊल-जलूल- अव्यवस्थित, बेढंगा, बेतुका, बेमेल, अक्रमिक, अविचारित, अस्तव्यस्त।

उषाकाल- प्रातः काल, सवेरा, तड़का, अरुणोदय, प्रभात, प्रातः, उदयकाल, सुबह, अमृतबेला, सूर्योदय।

ऊष्मा- तपन, गर्मी, ताप, जलन।

ऋक्ष- भालू, रीछ, भीलूक, भल्लाट, भल्लूक।

ऋक्षेश- चंद्रमा, चंदा, चाँद, शशि, राकेश, कलाधर, निशानाथ।

ऋण- कर्ज, कर्जा, उधार, उधारी।

ऋणी- कर्जदार, देनदार।

ऋतु- रुत, मौसम, मासिक धर्म, रज:स्राव।

ऋतुराज- बहार, मधुमास, वसंत, ऋतुपति, मधुऋतु।

ऋषभ- वृष, वृषभ, बैल, पुंगव, बलीवर्द, गोनाथ।

ऋषि- साधु, महात्मा, मुनि, मनीषी, योगी, मन्त्र द्रष्टा, सूक्तद्रष्टा, तपस्वी।

एकतंत्र- राजतंत्र, एकछत्र, तानाशाही, अधिनायकतंत्र।

एकदंत- गणेश, गजानन, विनायक, लंबोदर, विघ्नेश, वक्रतुंड।

एतबार- विश्वास, यकीन, भरोसा।

एषणा- इच्छा, आकांक्षा, कामना, अभिलाषा, हसरत।

एहसान- कृपा, अनुग्रह, उपकार।

एक करना- एकीकरण करना, सम्मिलित करना, मिलाना, जोड़ना, संघटित करना, संगठन बनाना।

एकता- मेल, मेलजोल, मेलमिलाप, संगठन, संघ, समानता, बराबरी, सामंजस्य, समन्वय, एकरूपता, एकसूत्रता, एकत्व, संश्रय, सद्भाव, सुमति।

एकरूप- समरूप, तुल्यरूप, अभिन्न, अनुरूप, समानता, सादृश्य, अभेद।

एकांत- निर्जन, सूना, शांत, शून्य, सुनसान, अकेला, एकाकी, तनहा

एकांतवास- निर्जनवास, गुप्तावास, विजनवास।

एकाग्रता- दत्तचित्तता, लगन शीलता, तन्मयता, तल्लीनता।

ऐंठ- कड़, दंभ, हेकड़ी, ठसक।

ऐबी- बुरा, खोटा, दुष्ट, अवगुण, गलती, त्रुटि, खामी, खराबी, कमी, अवगुण।

ऐयार- धूर्त, मक्कार, चालाक।

ऐहिक- सांसारिक, लौकिक, दुनियावी।

ऐक्य- एकत्व, एका, एकता, मेल।

ऐश्वर्य- धन-सम्पत्ति, विभूति, वैभव, समृद्धि, सम्पन्नता, ऋद्धि-सिद्धि।

ऐंठन- ऐंठ, मरोड़, बल, तनाव, अकड़, गर्व, घमंड, कुटिलभाव।

ऐंठना- उमेठना, मरोड़ना, इतराना, अकड़ना, शेखी बघारना।

ऐंद्रिक- ऐंद्रिय, इन्द्रियगत, इंद्रिय विषयक, इंद्रियजनित, इंद्रियजन्य।

ओज- तेज, शक्ति, बल, चमक, कांति, दीप्ति, वीर्य।

ओजस्वी- बलवान, बलशाली, बलिष्ठ, पराक्रमी, जोरावर, ताकतवर, शक्तिशाली, शक्तिमान, जोरदार, सशक्त, सबल, वीर्यवान, कांतिवान, दीप्तिमान, तेजस्वी।

ओंठ- ओष्ठ, अधर, लब, रदनच्छद, होठ।

ओला- हिमगुलिका, उपल, करका, बिनौरी, तुहिन, जलमूर्तिका, हिमोपल।

ओस- नीहार, तुषार, तुहिन, निशाजल, शीत, शबनम, कण।

ओहार- आवरण, परदा, आच्छादन।

ओंकार- प्रणव, बीज-मंत्र, वेदमाता, ओउम।

ओखली- उलूखल, ऊखल।

औचक- अचानक, यकायक, सहसा।

औरत- स्त्री, जोरू, घरनी, महिला, मानवी, तिरिया, नारी, वनिता, घरवाली।

औचित्य- उपयुक्तता, तर्कसंगति, तर्कसंगतता।

कमल- नलिन, अरविन्द, उत्पल, अम्भोज, तामरस, पुष्कर, महोत्पल, वनज, कंज, सरसिज, राजीव, पद्म, पंकज, नीरज, सरोज, जलज, जलजात, शतदल, पुण्डरीक, इन्दीवर।

किरण- गभस्ति, रश्मि, अंशु, अर्चि, गो, कर, मयूख, मरीचि, ज्योति, प्रभा।

कामदेव- मदन, मनोज, अनंग, आत्मभू, कंदर्प, दर्पक, पंचशर, मनसिज, काम, रतिपति, पुष्पधन्वा, मन्मथ।

कपड़ा- मयुख, वस्त्र, चीर, वसन, पट, अंशु, कर, अम्बर, परिधान।

कुबेर- कित्ररेश, यक्षराज, धनद, धनाधिप, राजराज।

कोयल- कोकिला, पिक, काकपाली, बसंतदूत, सारिका, कुहुकिनी, वनप्रिया।

क्रोध- रोष, कोप, अमर्ष, गुस्सा, आक्रोश, कोह, प्रतिघात।

कार्तिकेय- कुमार, षडानन, शरभव, स्कन्द।

कुत्ता- श्वा, श्रवान, कुक्कुर। शुनक, सरमेव।

कल्पद्रुम- देवद्रुम, कल्पवृक्ष, पारिजात, मन्दार, हरिचन्दन।

काक- कौआ, वायस, काग, करठ, पिशुन।

कंगाल- निर्धन, गरीब, रंक, धनहीन।

कंचन- स्वर्ण, सोना, कनक, कुंदन, हिरण्य।

कंजूस- कृपण, सूम, मक्खीचूस।

कर्ज- उधार, ऋण, कर्जा, उधारी, कुसीद।

कलानाथ- चंद्रमा, कलाधर, सुधाकर, सोम, सुधांशु, हिमांशु, तारापति।

कल्याण- भलाई, परहित, उपकार, भला।

कष्ट- तकलीफ, पीड़ा, वेदना, दुःख।

काग- कौआ, कागा, काक, वायस।

कातिल- खूनी, हत्यारा, घातक।

कामधेनु- सुरभि, सुरसुरभि, सुरधेनु।

कायर- कापुरुष, डरपोक, बुजदिल।

काल- समय, वक्त, वेला।

केतन- ध्वज, झंडा, पताका, परचम।

केवट- मल्लाह, माँझी, खेवैया, नाविक।

केसरी- शेर, सिंह, नाहर, वनराज, मृगराज, मृगेंद्र।

कोकिल- कोकिला, कोयल, पिक, श्यामा।

कोविद- विद्वान, पंडित, विशारद।

कुद्ध- नाराज, कुपित, क्रोधित, क्रोधी।

क्रूर- बेरहम, बेदर्द, बेदर्दी, बर्बर।

खाना- भोज्य सामग्री, खाद्यय वस्तु, आहार, भोजन।

खग- पक्षी, द्विज, विहग, नभचर, अण्डज, शकुनि, पखेरू।

खंभा- स्तूप, स्तम्भ, खंभ।

खंड- अंश, भाग, हिस्सा, टुकड़ा।

खटमल- मत्कुण, खटकीट, खटकीड़ा।

खद्योत- जुगनू, सोनकिरवा, पटबिजना, भगजोगिनी।

खर- गधा, गर्दभ, खोता, रासभ, वैशाखनंदन।

खरगोश- शशक, शशा, खरहा।

खल- दुष्ट, बदमाश, दुर्जन, गुंडा।

खलक- दुनिया, जगत, जग, विश्व, जहान।

खादिम- नौकर, चाकर, भृत्य, अनुचर।

खाविंद- पति, मियाँ, भर्तार, बालम, साजन, सैयाँ।

खिल्ली- मखौल, ठिठोली, उपहास।

खुदगर्ज- स्वार्थी, मतलबी, स्वार्थपरायण।

खुदा- राम, रहीम, रहमान, अल्लाह, परवरदिगार।

खौफ- डर, भय, दहशत, भीति।

खून- रक्त, लहू, शोणित, रुधिर।

खंडन करना- खंड-खंड करना, टुकड़े-टुकड़े करना, विभक्त करना, विभाजित करना, अमान्य करना, गलत ठहराना, असत्य सिद्ध करना, रद्द करना, झूठा साबित करना, अप्रमाणित करना।

खखारना- कफोत्सारण करना, बलगम निकालना, खाँसना।

खजाना- कोष, निधान, निधि, कोषाकार, संग्रह, भंडार, गोदाम, अजायबघर।

खटका- आशंका, चिंता, फिक्र, अनिश्चय, अविश्वास, द्विविधा, अनिर्णय, सन्देह, संदिग्धावस्था, संदेहावस्था, खतरा, डर, भय।

खट्टा- अम्ल, तुर्श, चुक्क।

खत- पत्र, चिट्ठी, पाती, रेखा, लकीर।

खतरनाक- संकटजनक, भयावह, जोखिम का, डरावना, खौफनाक, भयानक, आशंकाप्रद।

खतरा- भय, डर, खौफ, आशंका, खटका, अंदेशा।

खतरे में डालना- आपत्ति में छोड़ना, संकट में डालना, विपत्ति में डालना, जोखिम में डालना, आपदग्रस्त करना, विपदा में डालना, विपन्न करना।

खबर- समाचार, हालचाल, वृतांत, संदेश, सूचना, जानकारी, संदेशा, पता, खोज, सुधि, चेत, चेतना, संज्ञा, होश।

खबरदार- सतर्क, सावधान, सजग, जागरूक, होशियार, चौकन्ना, सचेत।

खबर देना- सूचना देना, अवगत कराना, सूचित करना, जानकारी देना, इत्तला करना, समाचार कहना, हाल बताना, आगाह करना।

खरगोश- शश, शशक, खरहा।

खरा- अच्छा, बढ़िया, निर्दोष, शुद्ध, स्वच्छ, निर्मल, निःसंकोची, निष्कपट, ईमानदार, बेलाग, सच्चा।

खराबी- दोष, अवगुण, बुराई, अधम, खोटा, गंदा, घटिया, बेकार, सड़ियल।

खरोंच- कटाव, निशान, दरार, भंग।

खर्च- व्यय, खपत, इस्तेमाल, उपयोग।

खल- नीच, दुष्ट, धोखेबाज, छली, कपटी, दुर्जन, विश्वासघात, चुगलखोर, निर्लज्ज, कमीना।

गाय- गौ, धेनु, सुरभि, भद्रा, दोग्धी, रोहिणी।

गृह- घर, सदन, गेह, भवन, धाम, निकेतन, निवास, आगार, आयतन, आलय, आवास, निलय, मंदिर।

गर्मी- ताप, ग्रीष्म, ऊष्मा, गरमी, निदाघ।

गुरु- शिक्षक, आचार्य, उपाध्याय।

गणेश- विनायक, गणपति, लंबोदर, गजानन्।

गंगा- भगीरथी, मंदाकिनी,सुरसरिता, देवनदी, जाहनवी।

गरुड़- खगेश, पत्रगारि, उरगारि, हरियान, वातनेय, खगपति, सुपर्ण, विषमुख।

गँवार- अशिष्ट, असभ्य, उजड्ड।

गऊ- गैया, गाय, धेनु।

गगन- आसमान, आकाश, नभ, व्योम, अंतरिक्ष।

गज- हाथी, गय, गयंद, गजेंद्र, मतंग, मराल, फील।

गजानन- गणेश, एकदंत, विनायक, विनायक, विघ्नेश, लंबोदर।

गन्ना- ईख, इक्षु, उक्षु, ऊख।

गरदन- गला, कंठ, ग्रीवा, गलई।

गल्ला- अन्न, अनाज, फसल, खाद्यान्न।

गाँव- ग्राम, देहात, खेड़ा, पुरवा, टोला।

गुदगुदाना- सहलाना, खुजलाना, सिहरा देना, पुलकित कर देना।

गुप्त- छिपा हुआ, अप्रत्यक्ष, परोक्ष, अप्रकट, गोपित, गूढ़, प्रच्छन्न, अंतर्निहित, गूढ़, कठिन, जटिल।

गुप्तचर- चर, खुफिया, जासूस, भेदिया।

गुमराह- भ्रांत, विभ्रांत, विपथगामी, पथभ्रष्ट, मार्गच्युत, भूलाभटका।

गुमसुम- चुप, खोया-खोया, अन्यमनस्क, आत्मविस्मृत, आत्मविभोर।

गुलछर्रे उड़ाना- आमोद-प्रमोद करना, ख़ुशी मनाना।

गुलाम- दास, सेवक, नौकर, अनुचर, परतंत्र, पराधीन, परवश।

गूँगा- मूक, आवाक, मौन, चुप, नीरव, वाणीहीन, बेजबान।

घट- घड़ा, कलश, कुम्भ, निप।

घर- आलय, आवास, गेह, गृह, निकेतन, निलय, निवास, भवन, वास, वास-स्थान, शाला, सदन।

घृत- घी, अमृत, नवनीत।

घटना- हादसा, वारदात, वाक्या।

घन- मेघ, बादल, घटा, अंबुद, अंबुधर।

घना- घन, सघन, घनीभूत, घनघोर, गझिन, घनिष्ठ, गहरा, अविरल।

घपला- गड़बड़ी, गोलमाल, घोटाला।

घमंड- दंभ, दर्प, गर्व, गरूर, गुमान, अभिमान, अहंकार।

घुड़सवार- अश्वारोही, तुरंगी, तुरंगारूढ़।

घुमक्कड़- भ्रमणशील, पर्यटक, यायावर।

घूँस- घूस, रिश्वत, उत्कोच।

घोड़ा- तुरंग, हय, घोट, घोटक, अश्व।

घटक- कलश, घड़ा, कुम्भ, संघटक, कारक, तत्व, अवयव, अंग, उपांश, भाग, उपादान।

घटना- वाकया, माजरा, मामला।

घूँसा- मुष्टिक, मुष्टिका, मुक्का।

घूस- रिश्वत, उत्कोच, चाँदी का जूता, बड़ा चूहा।

घृणा- नफ़रत, घिन, जुगुप्सा, अरुचि, कुत्सा, विराग, अप्रीति, चिढ़ विरक्ति, विमुखता, ऊब।

घृणाजनक- घृणात्मक, घनौना वितृष्णाजनक, कुत्सित, विरक्तिकर, वमनोत्पादक, अप्रीतिकर अप्रिय।

चन्द्र- चाँद, सुधांशु, सुधाधर, राकेश, सारंग, निशाकर, निशापति, रजनीपति, मृगांक, कलानिधि, हिमांशु, इंदु, सुधाकर, विधु, शशि, चंद्रमा, तारापति।

चंद्रमा- चाँद, हिमांशु, इंदु, सुधांशु, विधु, तारापति, चन्द्र, शशि, कलाधर, निशाकर, मृगांक, राकापति, हिमकर, राकेश, रजनीश, निशानाथ, सोम, मयंक, सारंग, सुधाकर, कलानिधि।

चरण- पद, पग, पाँव, पैर, पाद।

चतुर- विज्ञ, निपुण, नागर, पटु, कुशल, दक्ष, प्रवीण, योग्य।

चोर- तस्कर, दस्यु, रजनीचर, मोषक, कुम्भिल, खनक, साहसिक।

चाँदनी- चन्द्रिका, कौमुदी, ज्योत्स्ना, चन्द्रमरीचि, उजियारी, चन्द्रप्रभा, जुन्हाई।

चाँदी- रजत, सौध, रूपा, रूपक, रौप्य, चन्द्रहास।

चन्द्रिका- चाँदनी, ज्योत्स्ना, कौमुदी।

चंट- चालाक, घाघ, काइयाँ।

चावल- तंदुल, धान, भात।

चिट्ठी- पत्र, पाती, खत।

चिराग- दीया, दीपक, दीप, शमा।

चूहा- मूसा, मूषक, मुसटा, उंदुर।

चेरी- दासी, सेविका, बाँदी, नौकरानी, अनुचरी।

चेला- शागिर्द, शिष्य, विद्यार्थी।

चेहरा- शक्ल, आनन, मुख, मुखड़ा।

चोरी- स्तेय, चौर्य, मोष, प्रमोष।

चिढ़ना- कुढ़ना, खीझना, चिड़चिड़ाना, झल्लाना, अप्रसन्न होना।

चितकबरा- कबरा, चितला, शबल, रंजित, चित्रक, नानावर्ण, बहुवर्णी, बहुरंगी, चित्र-विचित्र।

चिन्ह- लक्षण, निशान, छाप, पहचान, संकेत, प्रतीक, सूचक, द्योतक।

चीख- क्रंदन, आक्रंदन, कर्कशनाद, चीत्कार, चिल्लाहट, कूक।

चीज- पदार्थ, वस्तु, द्रव्य।

चीनी- शर्करा, शक़्कर, खांड।

चीरफाड़- शस्त्र कर्म, शस्त्र क्रिया, शस्त्रोपचार, शल्यकर्म, शल्योपचार, अस्त्रचिकित्सा।

चुंगी- उत्पादन कर, पथकर, सीमाकर, सीमाशुल्क, उत्पादशुल्क, उत्पादकर, सरकारी महसूल, शुल्क।

चुकौती- निस्तार, निस्तारण, भुगतान, ऋणमुक्ति, ऋणमोचन, ऋण भुगतान।

छतरी- छत्र, छाता, छत्ता।

छली- छलिया, कपटी, धोखेबाज।

छवि- शोभा, सौंदर्य, कान्ति, प्रभा।

छानबीन- जाँच, पूछताछ, खोज, अन्वेषण, शोध, गवेषण।

छैला- सजीला, बाँका, शौकीन।

छँटनी- कटौती, छँटाई, काट-छाँट।

छटा- शोभा, सौंदर्य, छवि, सुंदरता, प्रकाश, झलक, आभा, चमक, खूबसूरती।

छल- दगा, दगाबाजी, ठगी, फरेब, कपट, धोखा, धूर्त्तता, धोखेबाजी, चकमा, कुटयोजना।

छाछ- मही, मठा, मठ्ठा, लस्सी, छाछी।

छाती- सीना, वक्ष, वक्षस्थल, उर, उरोज, कुच, पयोधर, वक्षस्थल।

छींटाकशी- ताना, व्यंग्य, फब्ती, कटाक्ष।

छुटकारा- मुक्ति, छूट, निस्तार, विमोचन, विमुक्ति, मोक्ष, मोचन, रिहाई, निजात।

छेरी- बकरी, छागी, अजा।

छोर- सीमा, पराकोटि, अत्यंत, अंत, नोक, कोर, किनारा, सिरा।

जल- मेघपुष्प, अमृत, सलिल, वारि, नीर, तोय, अम्बु, उदक, पानी, जीवन, पय, पेय।

जहर- गरल, कालकूट, माहुर, विष ।

जगत- संसार, विश्व, जग, जगती, भव, दुनिया, लोक, भुवन।

जीभ- रसना, रसज्ञा, जिह्वा, रसिका, वाणी, वाचा, जबान।

जंगल- विपिन, कानन, वन, अरण्य, गहन, कांतार, बीहड़, विटप।

जेवर- गहना, अलंकार, भूषण, आभरण, मंडल।

ज्योति- आभा, छवि, द्युति, दीप्ति, प्रभा, भा, रुचि, रोचि।

जहाज- पोत, जलयान।

जानकी- सीता, वैदही, जनकसुता, मिथिलेशकुमारी, जनकतनया, जनकात्मजा।

जंग- लड़ाई, संग्राम, समर, युद्ध।

जीत- जय, विजय, फतह।

जीव- प्राण, जान, आत्मा, प्राणी, प्राणधारी, देहधारी, देही।

जुटाना- जोड़ना, एकत्र करना, इकट्ठा करना, बटोरना, संग्रह करना।

जुलाब- रेचक, दस्तावर।

जूता- पदत्राण, उपानह, पादुका, पनही, चर्मपादुका।

जैसे- उसी तरह से, जिस तरह से, ज्यों ही, जिस प्रकार।

जोंक- रक्तपा, जलूका, जलाका, जलोका, जलौका।

जोकर- वैहासिक, विदूषक, ठिठोलिया, भाँड, मसखरा, हँसोड़।

जोरदार- शक्तिशाली, शक्तिवान, बलशाली, ओजस्वी, प्रभावशाली, असरदार।

जोश- उन्माद, उत्साह, उमंग, उफान, झोंक, सरगर्मी।

जोशीला- सोत्साह, अत्युत्साही, उत्साहशील, उमंगी, उत्साही।

ज्ञान- बोध, इल्म, जानकारी, परिचय, विवेक, आत्मज्ञान।

ज्येष्ठ- जेठा, बड़ा, अग्रज।

ज्योतिषी- दैवज्ञ, गणक, भविष्यवक्ता, खगोलज्ञ।

ज्वाला- लपट, लौ, अग्निशिखा, ज्योति, शिखा, गर्मी, ताप, जलन।

झरना- उत्स, स्रोत, प्रपात, निर्झर, प्रस्त्रवण।

झण्डा- ध्वजा, पताका, केतु।

झंझा- अंधड़, आँधी, बवंडर, झंझावत, तूफान।

झाँसा- दगा, धोखा, फरेब, ठगी।

झींगुर- घुरघुरा, झिल्ली, जंजीरा, झिल्लिका।

झंझट- झमेला, बखेड़ा, पचड़ा, प्रपंच, कलह, झगड़ा-झंझट, बवंडर, बवाल।

झगड़ा- कलह, तकरार, कहासुनी, वैमत्य, मतभेद, खटपटा, टंटा, लड़ाई, विवाद, विरोध, संघर्ष।

झगड़ालू- युद्धप्रिय, कलही, कलहप्रिय, फ़सादी, लड़ाका, दंगाई।

झगड़ा- कलह, तकरार, कहासुनी, वैमत्य, मतभेद, खटपटा, टंटा, लड़ाई, विवाद, विरोध, संघर्ष।

झटकना- छीनना, मार लेना, लूट लेना, हथिया लेना, ऐंठना।

झटपट- वेगपूर्ण, तीव्रता से, तुरंत, जल्दी से, तेजी से।

झींसी- फुहार, जलकण।

झुंड- समूह, गिरोह, समुदाय, जत्था, गण, भीड़, दल, जमघट, टुकड़ी।

झुकाव- प्रवृत्ति, रुझान, रुख।

झूठ- असत्य, मिथ्या, मृषा, अनृत।

झूठा- मिथ्या, अप्रकृत, अवास्तव, नकली, बनावट, कल्पित, कूट, दिखावटी, असत्यवादी, मिथ्यावादी।

झूमना- काँपना, हिलना, डोलना, लहराना, झोंका, खाना, झूलना।

टंकार- टंकोर, ध्वनि, झनकार।

टकराना- टक्कर खाना, भिड़ना, चोट खाना, लड़ जाना, ठोकर खाना।

टका- सिक्का, रुपया, धन, द्रव्य।

टक्कर- ठोकर, मुठभेड़, भिडंत, समाघात, धक्का, संघर्ष, बराबरी, सामना, घाटा, हानि।

टपकना- चूना, झरना, रिसना, स्रावित होना।

टहलना- सैर-सपाटा, घूमना, भ्रमण करना, चलना, फिरना।

टाँकना- लगाना, नत्थी करना, जोड़ना, सिलाई करना, अटकाना, जोड़ना।

टाँका- सिलाई, सीवन, चिप्पी, जोड़।

टाँग अड़ाना- हस्तक्षेप करना, बेजा पैर फैलाना, रोड़ा अटकाना, विघ्न डालना, प्रतिरोध उत्पन्न करना।

टालना- अनसुनी करना, बहाना बनाना, बात बनाना, टालमटोल करना।

टालमटोल- हीला-हवाला, आनाकानी, बहाना।

टिकट- प्रवेशपत्र, प्रमाणपत्र, अधिकार पत्र।

टिकना- बसना, रहना, ठहरना, रुकना, थमना, अड़ना।

टिकाऊपन- अनश्वरत्व, स्थिरता, चिर-स्थायित्व, स्थायित्व, टिकाव।

टिका हुआ- अवलंबित, सहारा लिए हुए।

टिमटिमाना- झिलमिलाना, चमचमाना, जगमगाना।

टीकाकार- भाष्यकार, व्याख्याता, कुंजीकार, वृत्तिकार, वृत्तकार, व्याख्याकार, समालोचक।

टीमटाम- ठाठबाट, धूमधाम, दिखावा, बनाव, सिंगार, प्रदर्शन।

टक्कर- मुठभेड़, लड़ाई, मुकाबला।

टहलुआ- नौकर, सेवक, खिदमतगार।

टाँग- पाँव, पैर, टंक।

टीका- तिलक, चिह्न, दाग, निशान, प्रभावशाली व्यक्ति, युवराज, व्याख्या, टिप्पणी, धब्बा।

टोना- टोटका, जादू, यंत्रमंत्र, लटका।

ठंडा- शीतल, सर्द, शांत, गम्भीर, सुस्त, मंद, धीमा, उदासीन, भावहीन।

ठगना- छलना, धोखा देना, चकमा देना, भुलावा, लूटना, लूट लेना, चूना लगाना, ऐंठना।

ठगी- कपट, मायाजाल, छल, बेईमानी, धोखेबाजी, उचक्कापन, जालासाजी।

ठसक- नखर, चोंचला, मान, अभिमान, शान, गर्व, घमंड।

ठहरना- रुकना, थमना, टिकना, विराम, स्थित होना, प्रतीक्षा करना, इंतजार करना।

ठाट- तड़क-भड़क, शोभा, सजावट, आयोजन, तैयारी, व्यवस्था, प्रबंध, झुंड, दल, समूह।

ठिकाना- स्थान, जगह, अड्डा, आयोजन, प्रबंध, व्यवस्था।

ठिठक जाना- ठहर जाना, सहमना, रुकना, ठिठकना।

ठिठुरना- शीत लगना, काँपना, थरथराना, सिकुड़ना।

ठिठोली- चुहल, फबती, व्यंग्य, मजाक, उपहास, दिल्लगी।

ठीक-ठीक- पूर्णरूपेण, पूरी तरह से, सही तौर पर, सीधे-सीधे तौर पर, भली प्रकार से, ठीक तरह से।

ठुकराना- तिरस्कार करना, अपमान करना, अवज्ञा करना, अस्वीकार करना, नामंजूर करना, लात मारना, असहमति प्रकट करना।

ठेका- निविदा, प्रस्ताव, टेण्डर, संविद, जिम्मा, इजारा, पट्टा।

ठेलना- खिसकाना, बढ़ाना, ढकेलना, धकियाना, सरकाना।

ठोकर- धक्का, टक्कर, आघात, चोट, ठेस।

ठौर- स्थान, जगह, ठिकाना, अवसर, मौका।

ठंड- ठंड, शीत, सर्दी।

ठग- छली, छलिया, फ़रेबी, वंचक, धूर्त, धोखेबाज।

ठाँव- स्थान, जगह, ठिकाना।

ठिंगना- बौना, वामन, नाटा।

ठीक- उपयुक्त, उचित, मुनासिब।

ठेठ- निपट, निरा, बिल्कुल।

ठटरी- कंकाल, पंजर, अस्थिपंजर, ठठरी।

ठठोली- मजाक, परिहास, ठट्ठा, ठिठोली, दिल्लगी।

ठन-ठन गोपाल- निर्धन, गरीब, दरिद्र, अकिंचन।

डरपोक- भीरु, भयभीत, त्रस्त, कायर, कापुरुष, आतंकित करना।

डराना- आतंकित करना, भयभीत करना, हतोत्साहित करना, भयातुर करना, थर्रा देना।

डरावना- भयावह, भयंकर, भयानक, भयप्रद, विकराल, आतंकपूर्ण, विकट, खौफनाक, खतरनाक।

डरा हुआ- आशंकित, आतंकित, भयभीत, भयग्रस्त, त्रस्त।

डसना- डंक मारना, डाँस मारना, काटना, दंश।

डाँटना- तिरस्कार करना, फटकारना, भला-बुरा कहना, आड़े हाथों लेना, डपटना, धुतकारना, धमकी, धिक्कार, लताड़ना, झाड़ना।

डाँवाडोल- अस्थिर, गतिशील, परिवर्तनशील, विचलित, डगमगाता हुआ।

डाका डालना- अपहरण, लूटमार करना, लूटना, डाकाजनी।

डायन- डाकिनी, पिशाचनी, भूतनी।

डायरी- दिनचर्या, रोजनामचा, दैनिकी, दैनंदिनी।

डाह- जलन, दाह, कुढ़न, ईर्ष्या।

डींग मारना- डींग हांकना, बड़ी-बड़ी बातें करना, गप्प मारना, लंबी-चौड़ी मारना।

डील-डौल- रूप, स्वरूप आकृति, आकार, ढाँचा, बनावट, कदकाठी, लम्बाई-चौड़ाई, शरीर रचना, देह, विन्यास, शारीरिक गठन।

डुबकी लगाना- अवगाहन करना, गोता लगाना।

डुबाना- जल समाधि देना, निमग्न करना, डुबो देना, प्लावन करना, बुड़ाना।

ढब- ढंग, रीति, तरीका, ढर्रा।

ढाँचा- पंजर, ठठरी।

ढीला-ढाला- शिथिलता, आलसी, सुस्ती, अतत्परता।

ढूँढ- खोज, तलाश।

ढँग- रीति, रचना, बनावट, ढाँचा, युक्ति, उपाय, आचरण, व्यवहार, चाल-ढाल, पहचान, अवस्था, दशा, तौरतरीका।

ढिंढोरा- मुनादी, ढँढोरा, डुगडुगी, डौंड़ी।

ढिग- समीप, निकट, पास, आसन्न।

ढिबरी- दीया, चिराग, डिबिया, लैंप।

ढीठ- धृष्ट, उद्दंड, निर्लल्ज, हठी, जिद्दी, मुँहजोर, दुस्साहसी।

ढोंग- पाखंड, प्रपंच, कपट, छल, छिपाव, ढोंगबाजी।

तालाब- सरोवर, जलाशय, सर, पुष्कर, ह्रद, पद्याकर , पोखरा, जलवान, सरसी, तड़ाग।

तोता- सुग्गा, शुक, सुआ, कीर, रक्ततुण्ड, दाड़िमप्रिय।

तरुवर- वृक्ष, पेड़, द्रुम, तरु, विटप, रूंख, पादप।

तलवार- असि, कृपाण, करवाल, खड्ग, शमशीर चन्द्रहास।

तट- कगार, किनारा, कूल, तीर, साहिल।

तटिनी- नदी, सरिता, दरिया, सलिला, तरंगिणी।

तड़ाग- जलाशय, सरोवर, तालाब, पोखर।

तड़ित- विद्युत, बिजली, दामिनी, सौदामिनी, गाज।

तथागत- बुद्ध, सिद्धार्थ, बोधिसत्व, गौतम।

तदबीर- उपाय, ढंग, रीति, विधि, तरीका, युक्ति।

तन- काया, देह, शरीर, बदन, तनु।

तपस्वी- तापस, मुनि, संन्यासी, व्रती, योगी, साधू, बैरागी।

तपेदिक- टी.बी., दिक, यक्ष्मा, राजयक्ष्मा।

तबाह- ध्वस्त, नष्ट, बरबाद।

तुरंग- घोड़ा, अश्व, हय, घोटक, तुरग।

तुला- तराजू, काँटा, धर्मकाँटा।

त्वचा- चर्म, चमड़ा, चमड़ी, खाल।

तीर- शर, बाण, विशिख, शिलीमुख, अनी, सायक।

तंग- दुःखी, परेशान, हैरान, धनहीन, गरीब, दरिद्र।

तंतु- सूत, डोरा, धागा, सूत्र, डोर, ताँत।

तरकारी- शाक, सालन, सब्जी।

तरी- गीलापन, आर्द्रता, नमी, ठंडक, शीतलता, सर्दी।

तरीका- विधि, ढंग, रीति, युक्ति, चाल, व्यवहार, आचरण।

तसल्ली- दिलासा, ढाढ़स, सांत्वना।

ताकना- देखना, घूरना, निहारना।

तागा- धागा, सूत, डोरा।

तात्पर्य- अभिप्राय, अर्थ, मतलब, आशय, हेतु।

तादाम्य- ऐकात्म्य, ऐक्य, एकात्मता, अभिन्नता, समरूपता, तल्लीनता।

तान- खींच, फैलाव, विस्तार, लय, स्वर, सुर।

ताना- व्यंग्य, उपहास, खिल्ली, उलाहना, सूत।

तानाशाह- अधिनायक, एकाधिकारी, निरंकुश, शासक।

तारा- नक्षत्र, सितारा, तारक, किस्मत, भाग्य, ग्रह।

तारीख- तिथि, दिनांक, मिति।

थोड़ा- अल्प, न्यून, जरा, कम।

थाती- जमापूँजी, धरोहर, अमानत।

थाक- ढेर, समूह।

थप्पड़- तमाचा, झापड़।

थकान- थकावट, श्रांति, थकन, परिश्रांति, क्लांति।

थल- स्थान, स्थल, भूमि, धरती, जमीन, जगह।

थवई- राज, राजगीर, मिस्त्री, राजमिस्त्री।

थोथा- सारहीन, खोखला, पोला, व्यर्थ, तुच्छ, दुष्ट, निकम्मा, खाली।

थोबड़ा- मुखड़ा, मुँह, थूथन।

दूध- दुग्ध, दोहज, पीयूष, क्षीर, पय, गौरस, स्तन्य।

दास- नौकर, चाकर, सेवक, परिचारक, अनुचर, भृत्य, किंकर।

दासी- परिचारिका, अनुचरी, बाँदी, नौकरानी।

दुःख- पीड़ा, कष्ट, व्यथा, वेदना, संताप, संकट, क्लेश, यातना, यन्तणा, शोक, खेद, पीर।

देवता- सुर, देव, अमर, वसु, आदित्य, निर्जर, त्रिदश, गीर्वाण, अदितिनंदन, अमर्त्य, अस्वप्न, आदितेय, दैवत, लेख, अजर, विबुध।

द्रव्य- धन, वित्त, सम्पदा, विभूति, दौलत, सम्पत्ति।

दैत्य- असुर, इंद्रारि, दनुज, दानव, दितिसुत, दैतेय, राक्षस।

दधि- दही, गोरस, मट्ठा, तक्र।

दूत- संदेशवाहक, चर, राजदूत, प्रतिनिधि, राजनयिक, सफीर।

दूर- परे, पृथक, अलग, भिन्न।

दृढ- पुष्ट, मजबूत, कड़ा, शक्तिशाली, स्थायी, अटल, निडर, निर्भय, दृष्टि, विचार, सिद्ध।

दृष्टिकोण- मत, नजरिया, परिपेक्ष्य।

देखभाल- देखरेख, निर्देशन, रखवाली, निगरानी, निरीक्षण।

देवता- अमर, देव, सुर, त्रिदिवेश, विश्वरूप, आकाशचारी।

देववाला- देववधू, देवांगना, अप्सरा, मेनका।

देवमंदिर- देवालय, प्रासाद, देवस्थान, मंदिर।

देह- शरीर, तन, बदन, काया।

दैत्य- असुर, राक्षस, रजनीचर, निशाचर, पिशाच।

दोगला- संकर, वर्णसंकर, हरामी, अधर्मज।

दोष- अवगुण, ऐब, खराबी, विकार, खामी, बुराई, अपराध, कुसूर, जुर्म।

दोषी- अपचारी, कदाचारी, अपराधी, कसूरवार, दुर्गुणी।

द्रव्य- वस्तु, पदार्थ, चीज, सामग्री, धन, दौलत, रुपया-पैसा।

धनंजय- अर्जुन, सव्यसाची, पार्थ, गुड़ाकेश, बृहन्नला।

धनु- धनुष, पिनाक, शरासन, कोदंड, कमान, धनुही।

धराधर- पर्वत, पहाड़, शैल, मेरु, महीधर, भूधर।

धराधीश- सम्राट, शहंशाह, नृप, नरेश, महीप, महीपति।

धात्री- धाय, उपमाता, आया, दाई।

धान- चावल, चाउर, तंदुल, शालि, व्रीहि।

धी- अक्ल, दिमाग, बुद्धि, मति, प्रज्ञा, मेधा, विवेक।

धीरज- सब्र, संतोष, तसल्ली, धैर्य, दिलासा।

धीवर- मछुहारा, मछुआरा, मत्स्यजीवी।

धेनु- गऊ, गाय, गैया, गौ, गोमाता, सुरभि।

ध्येय- प्रयोजन, अभिप्राय, लक्ष्य, मकसद, उद्देश्य।

ध्वज- झंडा, ध्वजा, केतन, केतु।

ध्वनि- नाद, रव, स्वर, ताल, आवाज।

धनुष- चाप्, शरासन, कमान, कोदंड, पिनाक, सारंग, धनु।

धक्का- टक्कर, ठोकर, आघात, झोंका, संकट, विपत्ति, मुसीबत।

धड़का- खटका, आशंका, अंदेशा, डर, फिक्र, सोच, चिन्ता।

धनवान- धनिक, धनी, श्रीमंत, दौलतमंद, वैभवशाली, धनेश्वर, अमीर।

धनुर्धर- कमनैत, धन्वी, धनुष्मान, धानुष्क।

धन्यवाद- आभार, शुक्रिया, मेहरबानी, वाहवाही, प्रशंसा, बड़ाई, शाबासी, तारीफ।

धब्बा- चिन्ह, निशान, दाग, कलंक, दोषारोपण, दोष, खराबी, बुराई।

धमकी- धुड़की, झिड़की, डाँट, फटकार, भयदर्शन।

धरोहर- अमानत, जमा, प्रतिभूति, निक्षेप, गिरवी, न्यास।

धवल- श्वेत, उजला, सफेद, निर्मल, स्वच्छ, साफ, मनोहर, सुन्दर, आकर्षक।

धाँधली- उत्पात, उपद्रव, ऊधम, शरारत, बदमाशी, कपट, जबरदस्ती, अंधेर।

धाक- भय, आतंक, दबदबा, डर, ख्याति, प्रसिद्धि।

धाम- घर, मकान, गृह, तीर्थ, देवस्थान, पुण्यस्थान।

धार- तेज, किनारा, तेज, नोंक, सिरा, किनारा, छोर।

धीर- धैर्यवान, धीरजवान, आत्मनिष्ठ, सहनशील, गम्भीर, शांत, धीमा, गहरा।

नौका- नाव, तरिणी, जलयान, जलपात्र, तरी, बेड़ा, डोंगी, तरी, पतंग।

नाग- विषधर, भुजंग, अहि, उरग, काकोदर, फणीश, सारंग, व्याल, सर्प, साँप।

नर्क- यमलोक, यमपुर, नरक, यमालय।

नर- जन, मानव, मनुष्य, पुरुष, मर्त्य, मनुज।

निंदा- दोषारोपण, फटकार, बुराई, भर्त्सना।

नेत्र- चक्षु, लोचन, नयन, अक्षि, चख, आँख।

नंदकुमार- नंदलाल, नंदकिशोर, नंदनंदन, कृष्ण, मुरारी, मोहन।

नंदिनी- बेटी, पुत्री, अंगजा, तनुजा, सुता, धी, दुहिता।

नक्षत्र- उडु, तारिका, नखत, जुन्हाई।

नगपति- हिमालय, पर्वतराज, पर्वतेश्वर, नगेश, नगेंद्र, शैलेन्द्र।

नजीर- मिसाल, दृष्टांत, उदाहरण।

नशेमन- होंसला, आशियाना, नीड़।

नश्वर- नाशवान, फानी, क्षयी, क्षर, भंगुर, मर्त्य।

निशाचर- राक्षस, असुर, दैत्य, दानव, अमानुष।

निशान- चिन्ह, धब्बा, पहचान, लक्षण, संकेत, झंडा, पताका।

निश्चय- विश्वास, यकीन, दृढ़-संकल्प, पक्का इरादा, पूरा इरादा, पक्का विचार, व्रत, प्रतिज्ञा, फैसला।

निश्चित- तय, दृढ़, पक्का।

निश्चेतनता- मूर्छा, संन्यास, अचेतावस्था, बेहोशी, निश्चेतावस्था।

निष्कलंक- निर्दोष, बेदाग, निर्मल।

निष्ठा- विश्वास, श्रद्धा, यकीन, प्रवृति, लगाव।

निष्पत्ति- इति, समाप्ति, पूर्णता, सिद्धि।

निस्तब्धता- ख़ामोशी, सन्नाटा, शांति, नीरवता।

निस्संदेह- अवश्य, जरूर, सचमुच, बेशक, वास्तव में।

नीर- जल, पानी, तोय, पय, अम्बु।

नीरज- जलज, वारिज, अम्बुज।

नीरव- निःशब्द, चुप, मौन, निस्तब्ध, शांत।

नीलकमल- नीलाम्बुज, नीलाब्ज, कुवलय, इंदीवर।

नीलम- नीलमणि, असिरत्न, शनिप्रिय, इंद्रनील, नील, महानील।

नुकसान-कंटाग्र, तीक्ष्णाग्र, निशित, नोकदार, नोक वाला।

नूतन- नया, नवीन, ताजा, अभिनव, आधुनिक।

नृप- राजा, नरपति, नृपाल, भूपति।

नृशंस- क्रूर, निर्दय, अकरुण, जालिम, बेदर्द, अत्याचारी।

नेकी- भलाई, उपकार, सज्जनता, शिष्टता।

नेता- नायक, अग्रणी, मुखिया, मार्गदर्शक, पथदर्शक।

नौबत- हालत, दशा, अवस्था, दुर्दशा, दुर्गति, शहनाई।

पक्षी- खेचर, दविज, पतंग, पंछी, खग, विहग, परिन्दा, शकुन्त, अण्डज, चिडिया, गगनचर, पखेरू, विहंग, नभचर।

पर्वत- पहाड़, गिरि, अचल, भूमिधर, तुंग आद्रि, शैल, धरणीधर, धराधर, नग, भूधर, महीधर।

पण्डित- सुधी, विद्वान, कोविद, बुध, धीर, मनीषी, प्राज्ञ, विचक्षण।

पुत्र- बेटा, लड़का, आत्मज, सुत, वत्स, तनुज, तनय, नंदन।

पुत्री- बेटी, आत्मजा, तनूजा, दुहिता, नन्दिनी, लड़की, सुता, तनया।

पृथ्वी- धरा, धरती, भू, इला, उर्वी, धरित्री, धरणी, अवनि, मेदिनी, क्षिति, मही, वसुंधरा, वसुधा, जमीन, भूमि।

पुष्प- फूल, सुमन, कुसुम, मंजरी, प्रसून, पुहुप।

पानी- जल, नीर, सलिल, अंबु, अंभ, उदक, तोय, जीवन, वारि, पय, अमृत, मेघपुष्प, सारंग।

पार्वती- अपर्णा, अंबिका, आर्या, उमा, गौरी, गिरिजा, भवानी, रुद्राणी, शिवा।

परिवार- कुटुंब, कुनबा, खानदान, घराना।

परिवर्तन- बदलाव, हेरफेर, तबदीली, फेरबदल।

पथ- मग, मार्ग, राह, पंथ, रास्ता।

पिता- जनक, जनपिता, बाप, बापू, बाबू, जन्मदाता, पितृ, पापा, अब्बा।

प्रकाश- ज्योति, चमक, प्रभा, छवि, द्युति।

पेड़- तरु, द्रुम, वृक्ष, पादप, रुक्ष।

पैर- पाँव, पद, चरण, पाद, पग।

पंक- कीचड़, कीच, कर्दम, चहला।

पंकज- कमल, राजीव, पद्म, सरोज, नलिन, जलज।

पंख- डैना, पक्ष, पर, पखौटा, पाँख।

पत्थर- पाहन, पाषाण, संग, ओला, इन्द्रोपल, उपल।

पत्र- पत्ता, पत्ती, पल्लव, किसलय, खत, चिट्ठी, समाचार पत्र, अख़बार।

पत्रा- तिथिपत्र, पंचांग, जंत्री, वर्क, चद्दर, पन्ना, पृष्ठ।

पथ्य- उपयुक्त, आहार।

पदक- सम्मानजनक, उपाधि, मेडल।

पनपना- समृद्ध होना, सफल होना, उन्नति करना, फलना-फूलना, विकसित होना, विकास करना।

पनवाड़ी- तमोली, बरेजा, पनवारी, तांबूलिक।

पनाह- शरण, बचाव, रक्षा, स्थानम सुरक्षा।

पपीहा- चातक, मेघजीवन, पपिहरा।

पुरी- पुर, नगर, शहर।

पुरुषार्थ- पौरुष, उद्योग, शक्ति, बल, ताकत, साहस, हिम्मत।

पुष्कर- तालाब, सरोवर, जलाशय, पोखरा, कमल, पंकज।

प्रेम- प्रीति, मुहब्बत, प्यार,मोह, माया, स्नेह, अनुराग, लगाव, चाह, दुलार।

प्रेमी- आशिक, प्रियतम, स्नेही, प्रिय, दिलबर, दिलदार।

प्रेरणा- उत्तेजना, प्रोत्साहन, बढ़ावा।

प्रोत्साहन- बढ़ावा, प्रेरणा, हिम्मत, उकसाहट, उत्साहवर्धन।

फल- फलम, बीजकोश।

फ़ख- गौरव, नाज, गर्व, अभिमान।

फजर- भोर, सवेरा, प्रभात, सहर, सकार।

फतह- सफलता, विजय, जीत, जफर।

फरमान- हुक्म, राजादेश, राजाज्ञा।

फलक- आसमान, आकाश, गगन, नभ, व्योम।

फसल- शस्य, पैदावार, उपज, खिरमन, कृषि- उत्पाद।

फालिज- पक्षाघात, अर्धांग, अधरंग, अंगघात।

फुर्तीला- 1. स्फूर्तिवान, सक्रिय, चुस्त; 2. तत्पर, अविलंब।

फूल- पुष्प, सारंग, कुसुम, सुमन, गुल।

फेर-फार- 1. घुमाव-फिराव, चक्कर; 2. चालाकी, धूर्तता, छल।

फेरा- परिक्रमण चक्कर, परिक्रमा, प्रदक्षिण।

फेहरिस्त- सूची, तालिका, सारिणी।

बख़ील- कंजूस, मक्खीचूस, कृपण, खसीस, सूम, मत्सर।

बजरंगबली- हनुमान, वायुपुत्र, केसरीनंदन, पवनपुत्र, बज्रांगी, महावीर।

बटमार- 1. डाकू, लुटेरा, डकैत, दस्यु; 2. ठग, जेबकतरा, उचक्का।

बटोही- मुसाफिर, राही, राहगीर, पथिक, पंथी, यात्री।

बहेलिया- आखेटक, अहेरी, शिकारी, आखेटी।

बाँसुरी- वेणु, बंशी, मुरली, बंसुरी।

बाजि- घोड़ा, अश्व, घोटक, तुरंग, तुरग, हय।

बायस- कौआ, कागा, काक, एकाक्ष।

बारिश- चौमासा, बरसात, वर्षा, वर्षाऋतु।

बुड्ढा- बूढ़ा, बुजुर्ग, वृद्ध, जईफ, वयोवृद्ध।

बेगम- महारानी, रानी, राज्ञी, राजमहिषी।

बेमिसाल- बेजोड़, लाजवाब, अनोखा, लासानी, अतुलनीय।

बैल- वृष, वृषभ, ऋषभ, वलीवर्द।

बलदेव- बलराम, बलभद्र, हलायुध, राम, मूसली, रोहिणेय, संकर्षण।

बँटवारा- विभाजन, वितरण, बँटाई, आबंटित करना।

बंधन- 1. गाँठ, बँधना 2. विघ्न, बाधा, रुकावट, नियंत्रण, रोक

बदन- शरीर, देह, तन, काया।

बदनाम- कुप्रसिद्ध, कलंकित, कुख्यात।

बदनबख्त- अभागा, बदकिस्मत।

बदल- हेर-फेर, परिवर्तन, फेर-बदल, इन्कलाब, पलटा।

बदला- 1. आदान-प्रदान, लेन-देन, विनिमय 2. परिणाम, फल, नतीजा।

बदसलूकी- दुर्व्यवहार, कुव्यवहार, अभद्रता, कदाचरण।

बदहवास- विकल, व्याकुल, व्यग्र, घबराया हुआ, बौखलाया हुआ।

बदौलत- सहारे से, द्वारा, कृपा से, कारण से, वजह से।

बन- वन, जंगल, कानन, अरण्य।

बना- 1. अलबेला, सजा-सँवरा, साफ-सुथरा, सुव्यवस्थित 2. रूप, शक्ल, स्वरूप, धारण करना।

बनावट- 1. रचना, निर्माण, आकार, शक्ल, रूप 2. ढोंग, दिखावा।

बेजान- निर्जीव, निष्प्राण, प्राणरहित, मुरदा, मृत, मृतक, मरा हुआ।

बेजोड़- अनुपम, अनूप, अद्वितीय, अनूठा, निराला, अनोखा।

बेडौल- कुरूप, भद्दा, बदशक्ल, बदसूरत, आकारहीन।

बेतहाशा- अकस्मात, तेजी से, अचानक, घबराकर, बिना सोचे, बिना समझे।

बेताब- अधीर, उत्सुक, उतावला, व्याकुल, विकल, घबराया हुआ।

बेदर्द- निष्ठुर, निर्दय, दयाहीन, क्रूर, अकरुण, कठोर।

भौंरा- अलि, मधुव्रत, शिलीमुख, मधुप, मधुकर, द्विरेप, षट्पद, भृंग, भ्रमर।

भोजन- खाना, भोज्य सामग्री, खाद्यय वस्तु, आहार।

भय- भीति, डर, विभीषिका।

भाई- तात, अनुज, अग्रज, भ्राता, भ्रातृ।

भंगुर- नाशवान, नश्वर, अनित्य, क्षर, मर्त्य, विनश्वर।

भंडारी- रसोइया, खानसामा, महाराज, रसोईदार।

भंवरा- भौंरा, भ्रमर, मधुकर, मधुप, मिलिंद, अलि, अलिंद, भृंग।

भक्त- आराधक, अर्चक, पुजारी, उपासक, पूजक।

भगिनी- बहन, बहना, स्वसा, अग्रजा।

भद्र- शिष्ट, शालीन, कुलीन, सभ्य, सलीकेदार, बासलीक़ा।

भरतखंड- भारतवर्ष, आर्यावर्त, भारत, हिंदुस्तान, हिंदोस्ताँ।

भरोसा- यकीन, विश्वास, ऐतबार, अक़ीदा, आश्वास।

भव- संसार, दुनिया, जग, जहाँ, विश्व, खलक, खल्क।

भविष्य- भावी, अनागत, भविष्यतकाल, मुस्तकबिल, भविष्यद।

भारती- शारदा, सरस्वती, वाग्देवी, वीणावादिनी, विद्या, वागेश्वरी, वागीशा।

भाल- मस्तक, पेशानी, माथा, ललाट।

भाला- बर्छा, बरछा, नेजा, कुंत, शलाका।

भीष्म- गंगापुत्र, शांतनुसुत, भीष्मपितामह, देवव्रत।

भुजा- भुज, बाहु, बाँह, बाजू।

भविष्य- भावी, अनागत, होनी, आगामी समय।

भविष्यद्रष्टा- दिव्यदर्शी, दूरदर्शी।

भव्य- शानदार, आकर्षक, मनोहर, सुन्दर, दिव्य।

भाँड- भाँडा, बर्तन, पात्र।

भाग- हिस्सा, खंड, टुकड़ा, अंग 2. बाँट, विभाग, विभाजन।

भूख- 1. क्षुधा, बुभुक्षा 2. कामना, अभिलाषा, लालसा, तीव्र इच्छा।

मछली- मीन, मत्स्य, झख, झष, जलजीवन, शफरी, मकर।

महादेव- शम्भु, ईश, पशुपति, शिव, महेश्र्वर, शंकर, चन्द्रशेखर, भव, भूतेश, गिरीश, हर, त्रिलोचन।

मेघ- घन, जलधर, वारिद, बादल, नीरद, वारिधर, पयोद, अम्बुद, पयोधर।

मुनि- यती, अवधूत, संन्यासी, वैरागी, तापस, सन्त, भिक्षु, महात्मा, साधु, मुक्तपुरुष।

मित्र- सखा, सहचर, स्नेही, स्वजन, सुहृदय, साथी, दोस्त।

मोर- केक, कलापी, नीलकंठ, शिखावल, सारंग, ध्वजी, शिखी, मयूर, नर्तकप्रिय।

मनुष्य- आदमी, नर, मानव, मानुष, जन, मनुज।

मदिरा- शराब, हाला, आसव, मधु, मद्य, वारुणी, सुरा, मद।

मधु- शहद, रसा, शहद, कुसुमासव।

मृग- हिरण, सारंग, कृष्णसार।

माता- जननी, माँ, अंबा, जनयत्री, अम्मा।

मूर्ख- गँवार, अल्पमति, अज्ञानी, अपढ़, जड़।

मृत्यु- देहांत, मौत, अंत, स्वर्गवास, निधन, देहावसान, पंचत्व, इंतकाल, काशीवास, गंगालाभ, निर्वाण, मरण।

माँ- अंबा, अम्बिका, अम्मा, जननी, धात्री, प्रसू।

मुर्गा- तमचूक, अरुणशिखा, ताम्रचूड़, कुक्कुट।

मग- पन्थ, मार्ग, बाट, पथ, राह।

मूढ़- मूर्ख, अज्ञानी, निर्बुद्धि, जड़, गंवार।

मैना- सारी, सारिका, त्रिलोचना, मधुरालाषा, कलहप्रिया।

मूँगा- प्रवाल, रक्तांग, विद्रुम, रक्तमणि।

मंजुल- मोहक, मनोहर, आकर्षक, शोभनीय, सुंदर।

मुहब्बत- प्रेम, प्यार, लगाव, लगन, स्नेह, इश्क।

मुहिम- 1. युद्ध, लड़ाई, आक्रमण 2. चढ़ाई, आंदोलन।

मूक- गूँगा, अवाक, वाणीरहित, चुप, मौन।

मूलधन- पूँजी, असल, सरमाया।

मूल्यवान- बहुमूल्य, कीमती, अनमोल।

मृगतृष्णा- मरीचिका, मृगमरीचिका।

मृगया- शिकार, आखेट, अहेर।

मृदु- 1. कोमल, नरम, मुलायम, नाजुक 2. सुहावना, प्रिय, मधुर, रुचिकर 3. धीमा, मंद, हलका।

मेधावी- प्रतिभावान, बुद्धिमान, विद्वान, दिमागवाला।

मेल- 1. मिलाप, संयोग, संयोजन 2. जोड़, बराबरी, समानता, एकता 3. मिलावट, मिश्रण, घोल-माल।

मेल-जोल- मेल-मिलाप, मेल, मुहब्बत, पारस्परिक, समझौता।

मेहनत- श्रम, परिश्रम, उद्योग।

मेहनती- परिश्रमशील, कर्मठ, उद्यमी, उद्योगी, परिश्रमी, प्रयत्नशील।

मेहमान- अतिथि, पाहुना।

मेहमानदारी- आदर-सत्कार, आतिथ्य, अतिथि, मेहमानवाजी।

मैत्री- मित्रता, दोस्ती, स्नेहभाव, मेल-जोल, भाई-चारा, प्रेम, स्नेह।

मैला- अपवित्र, अशुद्ध, मलिन, गंदा, अस्वच्छ।

मोती- मौक्तिक, मुक्ता, शुक्तिज।

यमुना- कालिन्दी, सूर्यसुता, रवितनया, तरणि-तनूजा, तरणिजा, अर्कजा, भानुजा।

यंत्रणा- व्यथा, तकलीफ, वेदना, यातना, पीड़ा।

यकीन- भरोसा, ऐतबार, आस्था, विश्वास।

यकृत- जिगर, कलेजा, जिगरा, पित्ताशय।

यक्ष्मा- टी.बी., तपेदिक, राजरोग, क्षय।

यज्ञोपवीत- जनेऊ, उपवीत, ब्रह्मसूत्र।

यतीम- बेसहारा, अनाथ, माँ-बापविहीन।

यशस्वी- मशहूर, विख्यात, नामवर, कीर्तिवान, ख्यातिवान।

यशोदा- यशोमति, जसोदा, नंदरानी।

यशोधरा- गौतम-पत्नी, गौतमी, गोपा।

याज्ञसेनी- पांचाली, द्रौपदी, सैरंध्री, द्रुपदसुता, कृष्णा।

त्रि- निशा, क्षया, रैन, रात, यामिनी, रजनी, त्रियामा, क्षणदा, शर्वरी, तमस्विनी, विभावरी।

रात- रात्रि, रैन, रजनी, निशा, यामिनी, तमी, निशि, यामा, विभावरी।

राजा- नृपति, भूपति, नरपति, नृप, महीप, राव, सम्राट, भूप, भूपाल, नरेश, महीपति, अवनीपति।

रवि- सूरज, दिनकर, प्रभाकर, दिवाकर, सविता, भानु, दिनेश, अंशुमाली, सूर्य।

रमा- इन्दिरा, हरिप्रिया, श्री, लक्ष्मी, कमला, पद्मा, पद्मासना, समुद्रजा, श्रीभार्गवी, क्षीरोदतनया।

रामचन्द्र- अवधेश, सीतापति, राघव, रघुपति, रघुवर, रघुनाथ, रघुराज, रघुवीर, रावणारि, जानकीवल्लभ, कमलेन्द्र, कौशल्यानन्दन।

रक्त- खून, लहू, रुधिर, शोणित, लोहित।

राक्षस- दैत्य, असुर, निशाचर।

रंक- गरीब, दरिद्र, कंगाल, निर्धन, धनहीन।

रंग-रूप- रूप, मुखाकृति, सूरत, शक्ल, गुण।

लक्ष्मी- चंचला, कमला, पद्मा, रमा, हरिप्रिया, श्री, इंदिरा, पद्ममा, सिन्धुसुता, कमलासना।

लड़का- बालक, शिशु, सुत, किशोर, कुमार।

लड़की- बालिका, कुमारी, सुता, किशोरी, बाला, कन्या।

लक्ष्मण- लखन, शेषावतार, सौमित्र, रामानुज, शेष।

लौह- अयस, लोहा, सार।

लता- बल्लरी, बल्ली, लतिका, बेली।

लंघन- उपवास, व्रत, रोजा, निराहार।

लक्षण- 1. चिन्ह, निशान, दाग 2. पहचान, स्वभाव, गुण, विशेषता।

लक्ष्य- निशान, उद्देश्य, निर्दिष्ट स्थान, ठिकाना, मंजिल।

लगातार- निरंतर, अविराम, बराबर, सर्वदा, नित्य, क्रमिक।

लगाव- लगावट, सम्बन्ध, प्रेम, प्रीति, वास्ता।

लग्न- 1. मुहूर्त, लगन 2. विवाह, शादी, ब्याह।

वृक्ष- तरू, अगम, पेड़, पादप, विटप, गाछ, दरख्त, शाखी, विटप, द्रुम।

विवाह- शादी, गठबंधन, परिणय, व्याह, पाणिग्रहण।

वायु- हवा, पवन, समीर, अनिल, वात, मारुत।

वसन- अम्बर, वस्त्र, परिधान, पट, चीर।

विधवा- अनाथा, पतिहीना।

विष- ज़हर, हलाहल, गरल, कालकूट।

विष्णु- नारायण, दामोदर, पीताम्बर, माधव, केशव, गोविन्द, चतुर्भज, उपेन्द्र, जनार्दन, चक्रपाणि, विश्वम्भर, लक्ष्मीपति, मधुरिपु।

विश्व- जगत, जग, भव, संसार, लोक, दुनिया।

विद्युत- चपला, चंचला, दामिनी, सौदामिनी, तड़ित, बीजुरी, घनवल्ली, क्षणप्रभा, करका।

वारिश- वर्षण, वृष्टि, वर्षा, पावस, बरसात।

वर्तमान- उपस्थित, प्रस्तुत, विद्यमान, मौजूद।

वर्ष- संवत्, सन्, ईसवी, साल, बरस।

वलि- 1. रेखा, लकीर 2. पंक्ति, श्रेणी, कतार।

वल्लभ- पति, स्वामी, प्राणेश्वर, शौहर, खाविन्द।

वश- अधिकार, काबू, नियंत्रण।

वस्तु- चीज, द्रव्य, पदार्थ।

वस्तुतः- वास्तव में, सचमुच, ठीक, यथार्थ।

वस्त्र- पोशाक, कपड़ा, पट, वसन, अंबर, चीर, वेशभूषा।

वहशत- असभ्यता, अशिष्टता, अभद्रता, जंगलीपन।

वाँछा- इच्छा, अभिलाषा, मनोरथ, कांक्षा, आकांक्षा, चाह, कामना, वासना।

वाकिफ- ज्ञाता, जानकार, अनुभवी।

वाण- तीर, शिलीमुख, शयक।

वाणी- 1. सरस्वती, ज्ञानदेवी, विद्या, हंसवाहिनी 2. बात, वचन, शब्द, जबान, भाषा।

शेर-हरि, मृगराज, व्याघ्र, मृगेन्द्र, केहरि, केशरी, वनराज, सिंह, शार्दूल, हरि, मृगराज।

शिव- भोलेनाथ, शम्भू, त्रिलोचन, महादेव, नीलकंठ, शंकर।

शरीर- देह, तनु, काया, कलेवर, वपु, गात्र, अंग, गात।

शत्रु- रिपु, दुश्मन, अमित्र, वैरी, प्रतिपक्षी, अरि, विपक्षी, अराति।

शिक्षक- गुरु, अध्यापक, आचार्य, उपाध्याय।

शेषनाग- अहि, नाग, भुजंग, व्याल, उरग, पन्नग, फणीश, सारंग।

शुभ्र- गौर, श्वेत, अमल, वलक्ष, धवल, शुक्ल, अवदात।

शहद- पुष्परस, मधु, आसव, रस, मकरन्द।

शंका- 1. संदेह, शक, आशंका, अंदेशा, अनिर्णय 2. भय, डर, खौफ।

शंकित- 1. शंकाशील, संशययुक्त, आशंकाग्रस्त, संदेहास्पद 2. भयभीत, डरपोक, भयाकुल।

शकुन- सगुन, शुभ मुहूर्त, शुभसूचक चिन्ह।

शक्ति- बल, ताकत, जोर, क्षमता।

शक्तिशाली- बलवान, ताकतवर, जोरदार, ओजस्वी, समर्थ।

षंड- हीजड़ा, नपुंसक, नामर्द।

षंजन- आर्लिगन, मिलन।

षंडाली- तालाब, ताल।

सर्प- साँप, अहि, भुजंग, ब्याल, फणी, पत्रग, नाग, विषधर, उरग, पवनासन।

सोना- स्वर्ण, कंचन, कनक, सुवर्ण, हाटक, हिरण्य, जातरूप, हेम, कुंदन।

सूर्य- रवि, सूरज, दिनकर, प्रभाकर, आदित्य, मरीची, दिनेश, भास्कर, दिनकर, दिवाकर, भानु, अर्क, तरणि, पतंग, आदित्य, सविता, हंस, अंशुमाली, मार्तण्ड।

सिंह- केसरी, शेर, महावीर, व्याघ्र, पंचमुख, मृगेन्द्र, केहरी, केशी, ललित, हरि, मृगपति, वनराज, शार्दूल, नाहर, सारंग, मृगराज।

सम- सर्व, समस्त, सम्पूर्ण, पूर्ण, समग्र, अखिल, निखिल।

समीप- सन्निकट, आसन्न, निकट, पास।

सभा- अधिवेशन, संगीति, परिषद, बैठक, महासभा।

सुन्दर- कलित, ललाम, मंजुल, रुचिर, चारु, रम्य, मनोहर, सुहावना, चित्ताकर्षक, रमणीक, कमनीय, उत्कृष्ट, उत्तम, सुरम्य।

सन्ध्या- सायंकाल, शाम, साँझ, प्रदोषकाल, गोधूलि।

स्त्री- सुन्दरी, कान्ता, कलत्र, वनिता, नारी, महिला, अबला, ललना, औरत, कामिनी, रमणी।

सुगंधि- सौरभ, सुरभि, महक, खुशबू।

स्वर्ग- सुरलोक, देवलोक, दिव्यधाम, ब्रह्मधाम, द्यौ, परमधाम, त्रिदिव, दयुलोक।

स्वर्ण- सुवर्ण, कंचन, हेन, हारक, जातरूप, सोना, तामरस, हिरण्य।

सहेली- अलि, भटू, संगिनी, सहचारिणी, आली, सखी, सहचरी, सजनी, सैरन्ध्री।

संसार- लोक, जग, जहान, भूमण्डल, दुनियाँ, भव, जगत, विश्व।

सरस्वती- गिरा, शारदा, भारती, वीणापाणि, विमला, वागीश, वागेश्वरी।

सज-धज- बनाव-सिंगार, सजावट, शान, दिखावट, आत्मप्रदर्शन, आडम्बर।

सजा- दंड, दंडादेश, दंडाज्ञा।

सज्जन- भला, आदमी, शरीफ, व्यक्ति, महानुभाव, सम्मानित व्यक्ति।

सज्जा- सजावट, सजधज, अलंकरण, बनाव-सिंगार।

सठियाना- बुद्धिलोप होना, मंदबुद्धि होना, मूर्ख होना, मतिभ्रष्ट हो जाना।

सतत- सदा, हमेशा, निरन्तर, लगातार।

सतीत्व- पातिव्रत्य, जितेन्द्रियता, शुचिता, सतीधर्मिता, साध्विता, पतिव्रता।

सत्कार- खातिरदारी, आतिथ्य, मेहमाननवाजी, मेहमानदारी, स्वागत, सम्मान, आदर।

सदन- घर, गृह, मकान, निवास-स्थान, आवास।

सदा- सर्वदा, निरन्तर, सदैव, नित्य, हमेशा, लगातार, हरदम, हरसमय।

सदृश- समान, अनुरूप, तुल्य, बराबर, सम।

सनातन- नित्य, हमेशा, निरन्तर, शाश्वत।

हस्त- हाथ, कर, पाणि, बाहु, भुजा।

हिमालय- हिमगिरी, हिमाचल, गिरिराज, पर्वतराज, नगपति, हिमपति, नगराज, हिमाद्रि, नगेश।

हिरण- सुरभी, कुरग, मृग, सारंग, हिरन।

होंठ- अक्षर, ओष्ठ, ओंठ।

हनुमान- पवनसुत, पवनकुमार, महावीर, रामदूत, मारुततनय, अंजनीपुत्र, आंजनेय, कपीश्वर, केशरीनंदन, बजरंगबली, मारुति।

हिमांशु- हिमकर, निशाकर, क्षपानाथ, चन्द्रमा, चन्द्र, निशिपति।

हंस- कलकंठ, मराल, सिपपक्ष, मानसौक।

हृदय- छाती, वक्ष, वक्षस्थल, हिय, उर।

हाथ- हस्त, कर, पाणि।

हाथी- नाग, हस्ती, राज, कुंजर, कूम्भा, मतंग, वारण, गज, द्विप, करी, मदकल।

हंगामा- कोलाहल, अशांति, शोरगुल, हल्ला, शोर 2. उत्पात, उपद्रव, हुड़दंग।

हँसमुख- आनंदित, उल्लसित, मगन, प्रसन्नचित्त, खुशमिजाज।

हँसी- मुस्कान, मुस्कारहट, ठहाका, खिलखिलाहट, मजाक, दिल्लगी, खिल्ली।

हटना- अलग होना, विमुख होना, पृथक होना, विचलित होना।

हठ- अड़, जिद, जबरदस्ती, प्रतिज्ञा, संकल्प, दृढ़निश्चय।

हताश- निरोशोन्मत्त, निराश, आशाहीन।

हत्या- वध, हिंसा, कत्ल, खून।

हत्यारा- हिंसक, खूनी, जीवघाती, कातिल, घातक।

हथियाना- हड़पना, हरण करना, दबा लेना, छीन लेना कब्जा करना, वश में करना।

हमदर्द- सहानुभूतिशील, दर्दमंद, हितचिंतक।

हमेशा- निरन्तर, सदा, सर्वदा, बराबर, लगातार।

हरिण- मृग, सारंग, ऋश्य, हिरण।

हर्ष- सुख, आनंद, प्रसन्नता, उल्लास, मोद-प्रमोद।

हर्षित- प्रफुल्ल, प्रसन्न, उल्लासमय, प्रसन्नचित्त।

Samanarthi shabd in hindi, paryayvachi shabd in hindi, Paryayvachi shabd list in hindi

यह भी पढ़े:-

Animals name in hindi and english | जानवरो के नाम Pronoun in Hindi

Vegetables name in Hindi and English | सारे सब्जियों के नाम हिंदी में

Colors name in Hindi | रंगों के नाम हिन्दी में

Share on

Leave a Reply