book summary in hindi

बड़ी सोच का बड़ा जादू | Book summary in Hindi

बड़ी सोच का बड़ा जादू एक बहुत ही शानदार बुक है। अगर आप इस बुक को पढ़ते हैं तो आप अपने जीवन में अपने बड़ी सफलताओं को और भी तेजी से हासिल कर सकते‌। बड़ी सोच का बड़ा जादू इसका अर्थ यह होता है कि आप जितना ज्यादा बड़ा सोच सकते हैं आपको उतना ही बड़ा परिणाम मिलेगा। 

आपकी सफलता, असफलता, हार, जीत सब कुछ आपकी सोच पर आधारित है। जो व्यक्ति या सोच लेता है कि वह सफल होकर ही रहेगा तो असफल हो जाता है। जिस व्यक्ति को अपनी सफलता पर विश्वास नहीं होता वह सफल नहीं हो पाता है।

इस पुस्तक के अध्याय में आपको कई ऐसे शानदार व्यवहारिक विचार और तकनीक और सिद्धांत को जानेने को मिलेगा। ‌ इन सिद्धांतों से आप बड़ी सोच की शक्ति का उपयोग कर पाएंगे। ऐसा करने से आप मनचाही सफलता सुख और संतोष हासिल कर पाएंगे। 

लेखक बताते हैं कि आप किस प्रकार विश्वास की शक्ति के सहारे सफलता तक पहुंच सकते हैं। अगर आप अपने जिस भी कार्य को कर रहे हैं और आप में उस कार्य के प्रति अपने पूर्ण निष्ठा तथा विश्वास है तो आप अवश्य ही सफल होंगे।

जीवन में किसी भी क्षेत्र में सफल होने के लिए विश्वास करें कि आप सफल हो सकते हैं और आप सफल हो जाएंगे। अविश्वास और इससे पैदा होने वाली नकारात्मक शक्तियों को हराएं और उन्हें दूर करें। नकारात्मक शक्तियां आपको सफल होने से रोकती है इसलिए इनसे दूरी बनाएं।

अपनी सोच को बढ़ाकर बड़े परिणाम हासिल करें। जब आपकी सोच बड़ी होगी तो परिणाम भी बड़े ही मिलेंगे। हमेशा अपने दिमाग में सकारात्मक विचार ही रखें नकारात्मक बातें ना सोचे।

सफलता के कार्यक्रम की योजना बनाएं और उसे पूर्ण करें। जब आप अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए संपूर्ण योजना बनाते हैं तब आप आसानी से उस लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। क्योंकि अगर आप बिना योजना के काम करते हैं तो सफलता हासिल करना थोड़ा अधिक कठिन होता है।

बहाना साइट यानी की असफलता की बीमारी का इलाज करें। ज्यादातर लोग किसी काम को टालने के लिए कोई ना कोई बहाना बनाते रहते हैं और यह उनकी सफलता को हासिल करने से रोकता है।

यह भी जानने की कोशिश करें कि आपकी सोच बुद्धि से ज्यादा महत्वपूर्ण क्यों है। काम ना करने के लोगों के पास अनेकों बहाने होते हैं। 

यह हमेशा याद रखें कि आपकी सफलता सोच के आकार से नापी जाती है। अपने सही आकार को नापे और जाने कि आप कितने योग्य है। भविष्य में क्या किया जा सकता है यह कल्पना करके बड़ा सोचें और देखें कि वास्तव में आप क्या बड़ा कर सकते हैं।

खुद का और चीजों का मूल्य बढ़ाएं। ज्यादातर सफल व्यक्ति अपने खुद का मूल्यांकन करते हैं और वह अपनी खुद की कीमत खुद तय करते हैं। अपने आप को कभी भी कम ना समझे।

छोटी-छोटी बातों से ऊपर उठे और महत्वपूर्ण बातों पर अपना ध्यान दें। क्योंकि जब आप छोटी-छोटी बातों में लगे रहेंगे तो आप अपने जीवन में अपने बड़े लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाएंगे। 

खुद को परखे और पता लगाएं कि आपकी सोच सचमुच कितनी बड़ी है। तथा खुद का मूल्यांकन करें। किसी भी काम को किया जा सकता है इस विश्वास के सहारे रचनात्मक शक्ति विकसित करें।

अपनी रचनात्मक शक्ति के प्रयोग से ज्यादा और बेहतर काम करने की कोशिश करें। अपने कान और दिमाग खुले रख कर अपनी रचनात्मकता को बढ़ाने की कोशिश करें।

हमेशा महत्वपूर्ण दिखे क्योंकि इससे आपको महत्वपूर्ण सोचने में मदद मिलती है। यह सोचकर महत्वपूर्ण बने कि आपका काम महत्वपूर्ण है। जब आप खुद को महत्वपूर्ण मानने लगते हैं तो दूसरे  भी आपको उसी नजरिए से देखने लगते हैं जैसा आप खुद को देखते हैं।

प्रयोगशील व्यक्ति बने। प्रतिदिन की रूटीन को तोड़े। नए होटल में जाए, नई पुस्तकें पड़े हैं, थिएटर में जाए , नए दोस्त बनाए, किसी दिन अलग रास्ते से काम पर जाएं, इस साल अलग ढंग से छुट्टियां बनाएं, इस सप्ताह के अंत में कुछ नया और अलग करें।

अपनी सोच को आधुनिक करें तथा महत्वपूर्ण लोगों की तरह सोचने की कोशिश करें। अपने काम के माहौल को अच्छी तरीके से मैनेज करें। आप अपने हर काम में फर्स्ट क्लास बने।

बड़ी सफलता उन्हीं लोगों का दरवाजा खटखटाती है जो लगातार खुद के सामने और दूसरों के सामने ऊंचे लक्ष्य रखते हैं, जो अपनी कार्यक्षमता सुधारना चाहते हैं, जो लगातार खुद को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो कम प्रयास में ज्यादा काम करना चाहते हैं। ऊंची सफलता उसी व्यक्ति को मिलती है जिसका रवैया होता है मैं इसे बेहतर तरीके से कर सकता हूं।

अपने हर काम में फर्स्ट क्लास बने और अपना बेहतरीन प्रदर्शन देने से ना रुके। अपने अंदर ऐसा रवैया विकसित करें जिनसे आप अपनी मनचाही चीजों को हासिल कर सकते हैं। सदैव उत्साहित बने रहे जिससे आपको काम करने में मजा आएगा। अपने अंदर सच्चे उत्साह की शक्ति विकसित करने की कोशिश करें। 

सुनने की आदत डालें, यह आपको सफल होने में बहुत मदद करेगा। सामने वाला जो कह रहा है उसे ध्यान से सुने। सुनने का मतलब है कि जो कहा जा रहा है, आपका पूरा ध्यान उसी तरफ होना चाहिए। ज्यादातर लोग सुनने के बजाय सुनने का नाटक करते हैं। वे सामने वाले की बात खत्म होने का इंतजार करते हैं, ताकि वे अपनी बात कहना शुरू कर सके। सामने वाले की बात पूरे ध्यान से सुने। उसका मूल्यांकन करें। 

विचारों को बच निकलने का मौका ना दें उन्हें लिख ले हर दिन आपके दिमाग में बहुत ही अच्छे विचार आते हैं, परंतु वे जल्दी मर जाते हैं क्योंकि आपने उन्हें कागज पर नहीं लिखा है और आप कुछ समय बाद उन्हें भूल जाते हैं। आप अपने इन विचारों को  नोटबुक या डायरी लिख कर रखें। जब भी आपके दिमाग में कोई अच्छा विचार आए, तो उसे लिख ले। 

अपने मस्तिष्क को व्यापक बनाएं। दूसरों के विचारों से प्रेरणा ले। ऐसे लोगों के साथ उठे बैठे जिससे आपको नए विचार, काम करने के लिए तरीके सीखने को मिल सकते हो। अलग-अलग व्यवसाय और सामाजिक रुचियो वाले लोगों से मिले़।

अपने आप से हर रोज सवाल पूछे, “मैं इसे किस तरह बेहतर तरीके से कर सकता हूं?” आत्म सुधार की कोई सीमा नहीं है। जब आप खुद से पूछते हैं, ” मैं किस तरह बेहतर कर सकता हूं” अच्छे जवाब अपने आप उभर कर सामने आएंगे। कोशिश करें और देखें कि आप को किस प्रकार इसमें सफलता मिलती है ।

आप महत्वपूर्ण हैं का रवैया अपने अंदर विकसित करें। जब भी आप किसी कार्य को करें तो पहले आप सेवा भावनाओं को आगे रखें। सदैव अपने आप को लोकप्रिय बनाए रखें। लोगों के बारे में सिर्फ अच्छे विचार सोचने की तकनीक अपनाएं, उनके बारे में बुरा विचार ना करें। जब भी आप किसी चर्चा में होते हैं उस समय आप उदारता का अभ्यास करके अच्छे दोस्त बनाने की कोशिश करें। 

जब भी कभी आप अपने जीवन में हार जाए या असफल हो तब बड़ा सोचने की कोशिश करें जिससे आपको ज्यादा प्रोत्साहन मिलेगा। हमेशा कर्म करने की कोशिश करें आदर्श परिस्थितियों का इंतजार ना करें क्योंकि जीवन में आदर्श परिस्थितियों का इंतजार करने से कुछ नहीं प्राप्त होगा। अगर आप सही परिस्थितियों का इंतजार करते रहेंगे तो आप किसी भी कार्य को शुरू ही नहीं कर सकते क्योंकि कभी ना कभी परिस्थितियां अनुचित तो होती रहती है। 

अपने दिमाग में आप जो भी विचार कर रहे हैं उसको कार्य में बदलें और उस विचार को वास्तविकता में करें। अपने अंदर के डर भगाने और विश्वास को जगाने के लिए खुद पर काम करें। बोलने की आदत डाल कर खुद को सफल बनाने की कोशिश करें। जब आप किसी से बातचीत करते हो तो आप अपने ज्ञान का आदान-प्रदान करते हो और उससे आप बहुत कुछ सीखते हो। 

यह समझने की कोशिश करें कि असफलता सिर्फ एक मानसिक स्थिति है तथा हर असफलता से कुछ ना कुछ जरूर सीखें। जब आप अपनी असफलताओं से कुछ ना कुछ जरूर सीखे।

हर परिस्थिति के दो पहलू होते हैं अच्छे और बुरे तो आपको इस समय क्या करना चाहिए अच्छे पहलू को ढूंढ कर अपने निराशा को दूर करने की कोशिश करनी चाहिए। 

आप अपने जीवन में कहां जाना चाहते हैं क्या प्राप्त करना चाहते हैं, आपके लक्ष्य क्या है, यह सब कुछ जाने और इन्हें लिखें। जब आप यह निश्चित कर लेते हैं कि आपको पहुंचना कहां है तो आपको अपने आप ही रास्ते दिखने लगते हैं। 

ज्यादातर लोग अपना समय अपने लक्ष्य को पाने के लिए नहीं बल्कि किसी ऐसी चीजों को पाने के लिए लगाते हैं जो उनके जीवन में कुछ भी महत्व नहीं रखता। इसलिए अपने समय का सदुपयोग कर अपने लक्ष्य के प्रति लगाएं, जिससे आपको जल्द से जल्द सफलता प्राप्त हो सके।

अगर आप भविष्य में अधिक से अधिक लाभ पाना चाहते हैं तो आपको खुद में निवेश तो जरूर करना होगा आप अपने ज्ञान पर निवेश करिए, अपने ज्ञान को बढ़ाने में अपना समय लगाएं। सदैव प्रगति के बारे में सोचें, प्रगति में विश्वास करें और प्रगति के लिए प्रयास करें। आप खुद का टेस्ट भी लें कि आप कितना बेहतरीन सोच सकते हैं, कितना बेहतरीन कार्य कर सकते हैं जिससे आपको अपने खुद के बारे में अधिक जानने को मिलेगा।

खुद का मूल्यांकन करें कि आपने अभी तक कितने बेहतरीन काम किए हैं, आप ने क्या हासिल किया है क्या हासिल नहीं किया है, इन सारी चीजों को जांचे। आप बड़ी सोच की शक्ति को बार-बार दोहराए जिससे आपको जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा मिलती रहेगी। 

अगर आप बड़ी सोच का बड़ा जादू बुक पढेंगे तो आपको यह सारी चीजें उस पुस्तक में सीखने को मिलेगी। आपको अपने जीवन में एक बार तो इस पुस्तक को अवश्य पढ़ना चाहिए और अगर आपने एक बार इस पुस्तक को अच्छी तरीके से पढ़ लिया तो आपको अपने जीवन में बड़ा सोचने से और बड़ी सफलता प्राप्त करने से कोई भी नहीं रोक सकता है। और आप अपने जीवन में बड़ी से बड़ी सफलताओं को भी हासिल कर सकते हैं। 

इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा आप हमें कमेंट में जरूर बताएं।

Read this also..

Qualities of leadership | लीडरशिप की qualities कौन-कौन सी होती है।

स्पीच और प्रेजेंटेशन कैसे दे?|इन स्किल को बेहतर कैसे करे?

Share on

5 thoughts on “बड़ी सोच का बड़ा जादू | Book summary in Hindi”

  1. Pingback: Best Life-Changing Books| Top 4 life-changing books - infotalk.in

  2. Pingback: Poem on maa in Hindi | Poem about Mother in Hindi | माँ पर कविता - infotalk.in

  3. Pingback: जीवन एक परीक्षा | जीवन की परीक्षाएं कैसे दें और इन परीक्षाओं को कैसे पार करें? - infotalk.in

  4. Pingback: buy toronto

  5. Pingback: viagra chorioretinopathy

Leave a Reply