operating system kya hai

Operating system in Hindi | types of operating system in Hindi

Operating system in Hindi ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है?

ऑपरेटिंग सिस्टम सबसे महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर को चलता है। यह कंप्यूटर की memory और processor के साथ ही साथ इसके सभी सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का management भी करता है। 

🟢 ऑपरेटिंग सिस्टम आपको कंप्यूटर के साथ communication करने की अनुमति देता है बिना यह जाने कि कंप्यूटर की भाषा कैसे बोलनी है। ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना, एक कंप्यूटर बेकार है।

ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में अधिक जानने के लिए आगे और पढ़ें।

Work of operating system in Hindi ऑपरेटिंग सिस्टम का काम क्या है 

🟢 आपके कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) कंप्यूटर पर सभी सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को manage करता है। जब एक ही समय पर कंप्यूटर के सभी अलग-अलग कंप्यूटर प्रोग्राम चल रहे हैं, तब OS सभी data को सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (सीपीयू), मेमोरी और स्टोरेज तक पहुँचता है।

🟢 ऑपरेटिंग सिस्टम काम को decide करने के लिए सभी parts को coordinate करता है ताकि प्रत्येक प्रोग्राम को उनकी आवश्यकता के अनुसार direction मिलता रहे।

Types of operating system in Hindi ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार  

🟢 ऑपरेटिंग सिस्टम आमतौर पर आपके द्वारा खरीदे गए किसी भी कंप्यूटर पर प्री-लोडेड आते ही हैं। अधिकांश लोग अपने कंप्यूटर के साथ आने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करते हैं, लेकिन ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करना या बदलना भी संभव है।

🟢 पर्सनल कंप्यूटर के लिए तीन सबसे आम ऑपरेटिंग सिस्टम माइक्रोसॉफ्ट विंडोज, मैकओएस और लिनक्स हैं।

🟢 modern ऑपरेटिंग सिस्टम एक ग्राफिकल यूजर इंटरफेस, या जीयूआई  का उपयोग करते हैं। GUI से आप बटन और मेनू पर क्लिक करने के लिए माउस का उपयोग करते है, और grafics और text की वजह से आसानी से सब कुछ जाना जा सकता है।

🟢  हमें सब कुछ स्क्रीन पर दिखता है। सिर्फ माउस के एक क्लीक पर आप कोई भी प्रोग्राम open कर सकते है। यह OS का ही feature है। जब ग्राफिकल यूजर इंटरफेस नहीं था तब हम कमांड का use करते थे। तब हमें कंप्यूटर को चलाने के लिए सभी कमांड को याद रखना पड़ता था l 

🟢 लेकिन अब new और modern ऑपरेटिंग सिस्टम के वजह से हम आसानी से कंप्यूटर को ऑपरेट कर सकते है। तथा computer चला सकते है। अभी आपको icon, images और बने हुए logo दिखते है जिस वजह से आप आसानी से सब कुछ समझ जाते है।  

🟢 प्रत्येक ऑपरेटिंग सिस्टम के GUI में एक अलग ही लुक और design होता है, इसलिए यदि आप एक अलग ऑपरेटिंग सिस्टम पर स्विच करते हैं तो यह पहली बार में थोड़ा सा अपरिचित या अलग लग सकता है। हालांकि, new और modern ऑपरेटिंग सिस्टम को उपयोग में आसान बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

🟢 माइक्रोसॉफ़्ट विंडोज़ भी एक प्रकार का ऑपरेटिंग सिस्टम ही है। आज हम आसानी से विंडोज के functions को use कर सकते है। 

Windows 7

माइक्रोसॉफ़्ट विंडोज़

🟢 माइक्रोसॉफ्ट ने 1980 के दशक के मध्य में विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम बनाया था। विंडोज के कई अलग-अलग versions रहे हैं, लेकिन सबसे हाल ही में windows 10 (2015 में जारी), windows 8 (2012), windows 7 (2009) और windows vista (2007) हैं।

🟢 windows सभी नए PC पर प्री-लोडेड आता है। आपको को एक बार Microsoft Windows लेने के बाद हर साल अपने windows को update करना पड़ता है। बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट के मालिक है इन्होने ही मिक्रोसॉफ़ कंपनी को बनाया है।

MacOS

Mac OS X Lion

🟢 macOS (जिसे पहले OS X कहा जाता था) Apple company द्वारा बनाई गई ऑपरेटिंग सिस्टम है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम सभी Macintosh कंप्यूटर, या Mac पर प्री लोडेड आता है जिससे आपको new इसे लोड करने की जरुरत नहीं पड़ती है। कुछ मुख्य versions में मोजावे (2018 में जारी), हाई सिएरा (2017), और सिएरा (2016) शामिल हैं।

🟢 मैकओएस users के पास Global ऑपरेटिंग सिस्टम के अनुसार 10% से कम accounts हैं – Microsoft windows users (80% से अधिक) है जो मैक OS के प्रतिशत से बहुत ही ज्यादा है।

🟢 इसका एक कारण यह है कि Apple कंप्यूटर अधिक महंगे होते हैं। हालांकि, कई लोग विंडोज पर मैकओएस के look को पसंद करते हैं।

लिनक्स

Ubuntu Linux

🟢 लिनक्स ( LINNUX) open-source ऑपरेटिंग सिस्टम का एक part है, जिसका अर्थ है कि उन्हें दुनिया भर में किसी के भी द्वारा भी modified और distribute किया जा सकता है। इस OS का पूरा control users के पास होता है। यह Microsoft windows जैसे मालिकाना सॉफ्टवेयर से अलग है, जिसे केवल उसी कंपनी द्वारा operate किया जा सकता है जो इसका मालिक है।

🟢 लिनक्स के लाभ यह है कि यह free है और इसके कई अलग-अलग distributions या versions हैं। आप इनमें से कोई भी चुन सकते हैं।

🟢 ग्लोबल स्टैट्स के अनुसार, लिनक्स users वैश्विक ऑपरेटिंग सिस्टम के अनुसार 2% से भी कम accounts हैं। हालाँकि, अधिकांश सर्वर लिनक्स पर चलाते हैं क्योंकि इसे customize करना आसान है।

डेस्कटॉप और mobile ऍप्लिकेशन्स क्या है?

🟢 आपने लोगों को किसी प्रोग्राम, एप्लिकेशन या ऐप का उपयोग करने के बारे में बात करते सुना होगा।  AAP एक प्रकार का सॉफ़्टवेयर है जो आपको MOBILE में महत्वपूर्ण कार्य करने की अनुमति देता है। डेस्कटॉप या लैपटॉप कंप्यूटर के लिए एप्लिकेशन को कभी-कभी डेस्कटॉप एप्लिकेशन भी कहा जाता है।

🟢 जब आप कोई एप्लिकेशन खोलते हैं, तो यह ऑपरेटिंग सिस्टम के अंदर चलता है जब तक आप इसे बंद नहीं करते। अधिकांश समय, आपके पास एक ही समय में एक से अधिक application खुले होंगे, जिसे मल्टी-टास्किंग के रूप में जाना जाता है।

कई Applications मोबाइल डिवाइस और यहां तक ​​कि कुछ टीवी के लिए भी उपलब्ध हैं।

Desktop applications

=> अनगिनत डेस्कटॉप applications हैं, और वे कई categories में आते हैं। कुछ अधिक विशेषताओं वाले होते हैं (जैसे Microsoft word), जबकि अन्य केवल एक या दो काम कर सकते हैं (जैसे घड़ी या कैलेंडर app)। 

नीचे आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले कुछ प्रकार के एप्लिकेशन हैं।

🟡 Word processors: एक वर्ड प्रोसेसर आपको एक पत्र लिखने, एक फ्लायर डिजाइन करने और कई अन्य प्रकार के documents बनाने की अनुमति देता है। सबसे प्रसिद्ध वर्ड प्रोसेसर माइक्रोसॉफ्ट word है।

🟡 Web browsers: एक वेब ब्राउजर वह applications है जिसका उपयोग आप इंटरनेट तक पहुंचने के लिए करते हैं। अधिकांश कंप्यूटर पहले से इंस्टॉल किए गए वेब ब्राउज़र के साथ आते हैं, लेकिन आप चाहें तो एक अलग से डाउनलोड भी कर सकते हैं। ब्राउज़रों के उदाहरणों में इंटरनेट एक्सप्लोरर, मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स, गूगल क्रोम और सफारी शामिल हैं।

🟡 Media players: यदि आप MP3 डाउनलोड करना चाहते हैं या आपके द्वारा डाउनलोड की गई फिल्में देखना चाहते हैं, तो आपको मीडिया प्लेयर का उपयोग करना होगा। विंडोज मीडिया प्लेयर और आईट्यून्स लोकप्रिय मीडिया प्लेयर हैं।

🟡 Games: कई प्रकार के गेम हैं जिन्हें आप अपने कंप्यूटर पर खेल सकते हैं। कई एक्शन गेम्स के लिए बहुत अधिक कंप्यूटिंग powers की आवश्यकता होती है, इसलिए वे तब तक काम नहीं कर सकते जब तक कि आपके पास ज्यादा storage और एक नया कंप्यूटर न हो।

Mobile apps

डेस्कटॉप और लैपटॉप कंप्यूटर एकमात्र उपकरण नहीं हैं जो एप्लिकेशन चला सकते हैं। आप स्मार्टफोन और टैबलेट जैसे मोबाइल device के लिए भी ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। मोबाइल ऐप्स के कुछ उदाहरण यहां दिए गए हैं।

🟡 Gmail: आप अपने मोबाइल डिवाइस से ईमेल आसानी से देखने और भेजने के लिए जीमेल एप का उपयोग कर सकते हैं। यह Android और iOS device के लिए उपलब्ध है।

🟡 Instagram: आप अपने दोस्तों और परिवार के साथ तस्वीरें जल्दी से साझा करने के लिए इंस्टाग्राम का उपयोग कर सकते हैं। यह Android और iOS के लिए उपलब्ध है।

Cloud कंप्यूटिंग क्या है?

आपने लोगों को क्लाउड, क्लाउड कंप्यूटिंग या क्लाउड स्टोरेज जैसे शब्दों का उपयोग करते हुए सुना होगा। लेकिन वास्तव में cloud क्या है?

सीधे शब्दों में कहें, क्लाउड online इंटरनेट है- विशेष रूप से, यह उन सभी चीजों के लिए है जो आप इंटरनेट पर दूर से भी access कर सकते हैं। जब data क्लाउड में होता है, तो इसका मतलब है कि यह आपके कंप्यूटर की हार्ड ड्राइव के बजाय इंटरनेट सर्वर पर stored है।

क्लाउड के बारे में अधिक जानने के लिए आगे पढ़ें।

cloud का उपयोग हमें क्यों करना चाहिए?

 उदाहरण के लिए, यदि आपने कभी web-आधारित ईमेल सेवा, जैसे gmail या yahoo का उपयोग किया है! आपने पहले ही क्लाउड का उपयोग किया है। web आधारित सेवा में सभी ईमेल आपके कंप्यूटर की हार्ड ड्राइव के बजाय सर्वर पर stored किए जाते हैं। 

इसका मतलब है कि आप इंटरनेट कनेक्शन के साथ किसी भी कंप्यूटर से अपने ईमेल तक पहुंच सकते हैं। इसका अर्थ यह भी है कि यदि आपके कंप्यूटर पर कुछ होता है तो आप अपने ईमेल को पुन:र्प्राप्त कर पाएंगे।

आइए क्लाउड का उपयोग करने के कुछ सबसे सामान्य कारणों को देखें।

🟡 File storage: आप क्लाउड में सभी प्रकार की जानकारी स्टोर कर सकते हैं, जिसमें फाइल और ईमेल भी शामिल हैं। इसका मतलब है कि आप इन चीजों को इंटरनेट कनेक्शन के साथ किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस से एक्सेस कर सकते हैं, न कि सिर्फ अपने घर के कंप्यूटर से। Dropbox र Google ड्राइव कुछ सबसे लोकप्रिय क्लाउड-आधारित सेवाएं हैं।

🟡 File sharing: क्लाउड एक ही समय में कई लोगों के साथ फ़ाइलें share करना आसान बनाता है। उदाहरण के लिए, आप फ़्लिकर या आईक्लाउड फ़ोटो जैसी क्लाउड-आधारित फ़ोटो सेवा के लिए कई फ़ोटो अपलोड कर सकते हैं, फिर जल्दी से उन्हें मित्रों और परिवार के साथ साझा कर सकते हैं।

🟡 Back up data: आप अपनी फ़ाइलों की सुरक्षा के लिए क्लाउड का उपयोग भी कर सकते हैं। Mozy और Carbonite जैसे ऐप automatic आपके डेटा को क्लाउड में वापस कर देते हैं। इस तरह, यदि आपका कंप्यूटर कभी खो जाता है, चोरी हो जाता है, या damage हो जाता है, तो भी आप इन फ़ाइलों को क्लाउड से पुन:र्प्राप्त कर पाएंगे।

Read More articles

Mobile storage फुल हो गया तो क्या करें? इन Tips के जरिये बढ़ाये

20 Best Free Online Courses with Certificate [2020] 
Share on

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *